हमार छ्त्तीसगढ़

EXAM-विद्यार्थियों को कोरोना संक्रमण हुआ तो जिम्मेदारी कौन लेगा…?KR लॉ कालेज के छात्रों ने की जनरल प्रमोशन की मांग

बिलासपुर।केआर लॉं कॉलेज के छात्रों ने जनरल प्रमोशन की मांग की है।बुधवार को के. आर. लाँ कालेज के छात्रों ने जनरल प्रमोशन की मांग और ज्ञापन सौपा है।छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने (उच्च शिक्षा विभाग मंत्रालय ने पत्र क्रमांक एफ-33/2020/38-1 दिनांक 1/6/2020 ) में अटल बिहारी वाजपेई विश्वविद्यालय समेत इस राज्य के अन्य विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को प्रतिलिपि के माध्यम से सूचित किया है कि – अटल बिहारी वाजपेई विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित समस्त कोर्सों के फाइनल ईयर / सेमेस्टर के विद्यार्थियों को छोड़कर अन्य सभी विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन दे दिया गया है.अब छात्रो ने मांग की है कि एल.एल.बी. के अंतिम ईयर / सेमेस्टर के विद्यार्थियों को भी जनरल प्रमोशन दिया जाए, हमारी मांग है कि छत्तीसगढ़ राज्य में राज्य सरकार के आदेश एवं मनसा का अनुकरण करते हुए कोविड-19 कोरोनावायरस से बचने के लिए सभी विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन दिया जाए. सीजीवालडॉटकॉम के व्हात्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

स्टूडेंट्स ने बताया कि जिस तरह प्रतिदिन लगभग 40 से अधिक नए कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आते जा रहे हैं, प्रदेश में भय का माहौल बना हुआ है.परीक्षा दिलाने आने वाले परीक्षार्थियों में से कौन कोरोनावायरस पॉजिटिव है यह जानना संभव नहीं है।युवा परीक्षार्थी हमारे राज्य एवं देश के भविष्य हैं l इनमें संक्रमण फैलना चिंता का विषय है.युवा परीक्षार्थियों की मृत्यु की जिम्मेदारी कौन लेगा ?सरकार के द्वारा जारी सुरक्षा मानकों का उपयोग करते हुए हमारी सेवा में लगे डॉक्टर एवं पुलिसकर्मी भी कोरोना पॉजिटिव पाए जा रहे हैं.

जब डॉक्टर विशेष सुरक्षा मानकों का उपयोग करके भी कोरोनावायरस से नहीं बच पा रहे हैं तब सैकड़ों की भीड़ में परीक्षार्थी कैसे बच पाएंगे.आम विद्यार्थी जो मिडिल क्लास परिवार एवं किसानों के बच्चे हैं.वे अच्छे क्वालिटी N-95 जैसे मास्क कहां से खरीद पाएंगे ? जिसकी कीमत 400 से ₹500 है.आम विद्यार्थी जो मिडिल क्लास परिवार एवं किसानों के बच्चे हैं. वे अच्छे क्वालिटी N-95 जैसे मास्क कहां से खरीद पाएंगे ? जिसकी कीमत 400 से ₹500 है.

नक्सल हिंसा पीड़ित परिवारों के लिए लगा समस्या निवारण शिविर,दो दिनो तक लगे शिविर में मिले कुल 800 से ज्यादा आवेदन

स्पष्ट है कि परीक्षा के समय सैकड़ों हजारों की संख्या में परीक्षार्थी एकत्र होंगे इससे सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन होगा मास्क लगाकर शायद आप मुंह से वायरस घुसने से रोक सकें परंतु कान एवं विशेषकर आंख से वायरस घुसने से नहीं रोक पाएंगे । क्योंकि छात्रों की भीड़ इकट्ठा होने से पानी / टेबल / बेंच / पर्यवेक्षकों का रिकॉर्ड आदि किसी माध्यम का उपयोग करके यदि किसी एक विद्यार्थी को भी कोरोनावायरस पॉजिटिव संक्रमण रहा तो यह प्राण घातक संक्रमण सभी विद्यार्थियों में फैल जाएगा.

विद्यार्थियों में कोरोना संक्रमण के कारण होने वाली मृत्यु की जिम्मेदारी कौन लेगा ?? कालेज प्रशासन या जिला प्रशासन या विश्वविद्यालय प्रशासन या स्वयं माननीय कुलपति महोदय ??मांग करने वाले छात्रों में अश्वनी कुमार घोरे, आकाश चौहान, आशुतोष शुक्ल, आशीष साहू, कमलेश साहू, जयप्रकाश खूंटे, एमडी साहेब अकरम, राकेश शर्मा, राजकुमार साहू, राकेश कुमार मानिकपुरी, ए रजवाड़े आदि सम्मिलित हैं.

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS