कोटा और मस्तूरी एसडीओ हटाए गए…पटेल और राठौर को मिली जिम्मेदारी

P.DAYANAND_INDEXबिलासपुर—कलेक्टर पी.दयानन्द ने दोपहर करीब दो बजे यकायक एसडीओ मस्तूरी और कोटा को हटाकर कलेक्टर कार्यालय अटैच कर दिया हैं। दोनों जगहों पर नए एसडीओ का आदेश जारी किया है।

                              सीजी वाल ने कोटा में अवैध मुरूम उत्खनन मामले को गंभीरता से उठाया है। नवम्बर 2016 में मुरूम उत्खनन की शिकायत के बाद मौके पर पटवारी,तहसीलदार और कोटा एसडीओ ने निरीक्षण किया। अधिकारियों ने पाया कि करीब दो एकड़ जमीन पर दो से छः फिट की गहराई तक मुरूम निकाला गया है। लेकिन कोटा एसडीओ कार्यालय से खनिज विभाग को रिपोर्ट में बताया गया कि केवल 195 घनमीटर में  मुरूम का अवैध उत्खनन हुआ है। इसके बाद जिन्दल इन्फ्रास्ट्रक्चर पर केवल 40 हजार का जुर्माना लगाया गया। नियमानुसार जुर्माना 35 लाख के आस पास बनता था।

यह भी पढे-खनिज विभाग पर भारी जिन्दल प्रेम…एसडीएम की रिपोर्ट…35 लाख की जगह 40 हजार की पेनाल्टी

                                                         तमाम बातो और अन्य शिकायतों को ध्यान में रखते हुए एसडीओ डिलेराम डाहिरे को कोटा से कलेक्टर कार्यालय बुलाया गया है। मस्तूरी एसडीओ को लेकर कलेक्टर को ठीक ठाक फीड़ बैंक नहीं मिल रही थी। खनिज उत्खनन और अन्य कार्यों को लेकर लगातार शिकायत थी।

                        दोपहर को कलेक्टर ने दोनों एसडीेओ को हटाते हुए नया आदेश जारी किया है। देवेन्द्र कुमार पटेल को कोटा और कीर्तिमान सिंह राठौर को मस्तूरी एसडीएम की जिम्मेदारी दी है। जानकारी मिल रही है कि जल्द ही तहसीलदारों के स्थानों में भी परिवर्तन हो सकता है।

Comments

  1. By Devkashyap

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *