कोयला माफियों पर गिरी गाज…एसपी के निर्देश पर 3 कोल डिपो में छापामार कार्रवाई..2 संचालक समेत मैनेजर गया जेल

बिलासपुर—सीनियर पुलिस कप्तान आरिफ शेख के निर्देश पर बीती रात शहर से लगे तीन कोयला डिपो में ताबड़तोड़ कार्रवाई हुई। मौके पर डिपों संचालकों के आदमियों को चोरी का कोयला रखने और मिलावट करते पाया गया। पुलिस कार्रवाई के बाद कोयला डिपो संचालकों में भारी हड़कम्प है। यदि दो एक दिन में बिल्हा क्षेत्र के कोयला डिपो संचालकों पर फिर से कार्रवाई हो तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी। जानकारी हो कि मोहदा स्थित अमित ओबेराय समेत अन्य कोल डिपो संचालकों के खिलाफ हाल फिलहाल कार्रवाई की गयी थी। बावजूद इसके कोयला माफियों ने कार्रवाई के बाद दुबारा अपना दुकान सजा लिया है। मामले में एसएसपी आरिफ शेख ने बताया कि शिकायत पर अवैध कोल संचालकों पर दुबारा कार्रवाई की जाएगी।
                                       बीति रात पुलिस कप्तान के निर्देश पर बिल्हा क्षेत्र के बोड़सरा,बेलमुण्डी और डिगोरा स्थित फिल कोल डिपो में छापामार कार्रवाई की गयी है। पुलिस की छापामार कार्रवाई में तीन कोयला प्लाट में अवैध कोयला और मिलावटी सामान पाए गए हैं। पुलिस कप्तान के आदेश पर पुलिस कार्रवाई के दौरान संचालकों ने जमा कोयला का साक्ष्य पेश करने में असफल रहे। इसके आलावा पुलिस ने मौके से डोलोमाइट भी बरादम किया है। पुलिस ने छापामार कार्रवाई के बाद डिपो को सील कर दिया। पुलिस ने दो संचालकों समेत तीसरे कोल डिपों मैनेजर को विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया है।
                       बिलासपुर सीनियर पुलिस कप्तान आरिफ शेख को मुखबिर से जानकारी मिली कि लगातार कार्रवाई के बाद भी कोयला डिपो में अवैध भण्डारण के साथ बाहर जाने वाले कोयला की चोरी की जा रही है। पुलिस कप्तान के निर्देश पर सिविल लाइन और हिर्री पुलिस की संयुक्त टीम ने बीती रात एडिश्नल एसपी नीरज चन्द्राकर की अगुवाई में बोड़सरा,डिगोरा और बेलमुण्डी में एक साथ तीन कोल डिपो में छापामार कारी हुई। तीनो ही कोल डिपो से भारी मात्रा कोयला का अवैध डम्प पाया गया। मौके से पुलिस को डोलोमाइट भी मिले हैं।
               एडिश्नल एसपी की मांग पर तीनो कोल डिपो संचालक और मैनेजर ने डम्प कोयला और डोलोमाइट की जानकारी नहीं दे पाये। पुलिस कप्तान आरिफ शेख के निर्देश पर नीरज चन्द्राकर ने तीन कोल डिपो को बंद कर दो संचालकों और तीसरे कोल डिपो मैनजर को हिर्री थाना भेज दिया।
                                    हिर्री थानेदार ने बताया कि दिगोरा स्थित फिल कोल डिपो संचालक मुन्ना गुप्ता के मैनेजर राजेन्द्र पटेल, बोड़सरा स्थित कोल डिपो संचालक संतू जैसवानी और बेलमुण्डी स्थित कोल संचालक जाकिर खान के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। पकड़े गए तीनों के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 41-1-4 आईपीसी की धारा 379 के तहत कोर्ट में पेश कर तीनों को जेल भेज दिया गया है।
     जानकारी के अनुसार पुलिस को छापामार कार्रवाई के दौरान बोडसरा कोल डिपो से 20 टन, मुन्ना गुप्ता के कोल डिपो से 20 टन और जाकिर के ठिकाने से 10 टन कोयला के साथ डोलोमाइट बरामद हुआ है।
कई कोल डिपो पर भी हो सकती है कार्रवाई
            मालूम हो कि तीन दिन पहले ही  पुलिस और माइनिंग प्रशासन ने चार पांच कोल डिपो के खिलाफ कार्रवाई की थी। मोहदा मोड़ के पास स्थित कोल डिपो पर की गयी इसमें से एक है। सभी के खिलाफ भारी भरकम पेनाल्टी भी लगाया गया । बावजूद इसके कोल डिपो संचालक अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं। जानकारी मिल रही है कि हाल फिलहाल कार्रवाई के बाद एक बार फिर देर रात होते ही मोहदा मो़ड़ स्थित कोल डिपो संचालक अमित ओबेराय और भाटिया फिर से कोयला की अफरा तफरी और मिलावट का काम शुरू कर दिया है। संकेत मिल रहे हैं कि ऐसे कोल डिपो संचालकों के खिलाफ जल्द ही पुलिस प्रशासन अभियान छेड़ने वाला है।
गलत लोगों के खिलाफ चलेगा अभियान
                 मामले में पुलिस कप्तान आरिफ शेख ने बताया कि लगातार कोयला अफरातफरी और मिलावट के साथ चोरी की शिकायत मिल रही थी। पुलिस ने अपना काम किया है। जल्द ही ऐसे लोगों के खिलाफ पुख्ता सबूत के साथ कार्रवाई की जाएगी। चोरी और अफरातफरी करने वालों को नहीं छोड़ा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *