मेरा बिलासपुर

कोरोनाः जोगी ने कहा..सरकार खर्चा वहन करे..निजी अस्पतालों के बिना कोविड-19 से जंग जीतना असम्भव

रायपुर— जनता कांग्रेस प्रमुख अमित जोगी ने सरकार से मांग की है कि राज्य का स्वास्थ्य विभाग बीमार, कोरोना मरीजों का निजी अस्पतालों में हो मुफ्त में इलाज कराए। छत्तीसगढ़ में निजी अस्पतालों की भागीदारी के बिना यूनिवर्सल हेल्थ केर और कोरोना की जंग जीतना असम्भव है। जनता कांग्रेस कार्यालय से जारी प्रेस नोट के अनुसार अमित जोगी ने कहा कि  सरकार निजी अस्पतालों के लिए जारी खर्च सम्बन्धी आदेश को वापस ले। , 
 
             जनता काँग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने प्रेस नोट जारी कर कहा कि सरकार सभी राशन कार्डधारी COVID-19 मरीज़ों का  प्राइवेट अस्पतालों में इलाज कराए। इसके पहले सम्पूर्ण खर्चा स्वयं वहन करने का एलान भी करे। अमित जोगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में 80 प्रतिशत आसीयू बिस्तर, वेंटिलेटर और क्रिटिकल केयर डॉक्टर निजी अस्पतालों में हैं। सरकारी अस्पतालों के भरोसे मात्र 20 प्रतिशत लोगों का ही इलाज संभव है। सरकार ने अपनी बेहद सीमित क्षमता को बड़ाने के लिए पीछले 3 महीनों में कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं।
 
       अमित जोगी ने बताया कि सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों को उपचार के वास्तविक खर्चे से आधे से भी कम दरों में लोगों का इलाज करने का फ़रमान जारी किया है। जिसका नतीजा है कि गरीब और बिना बीमा वाले मरीज़ों के उपचार के लिए दरवाज़े बंद कर दिए गए हैं।  कई मरीज़ों को तो बीमारी की अवस्था में ही डिस्चार्ज करने के लिए मजबूर किया गया है।  अमित जोगी ने सरकार से सवाल भी किया है कि बताए ये लोग अब कहाँ जाएँगे ? 
 
                           प्रेस नोट में अमित जोगी जोगी के हवाल बताया गया है कि महामारी की विस्फोटक स्थिति को क़ाबू करने के लिए सरकार अपना आदेश वापस ले। सभी राशन कार्डधारी COVID-19 मरीज़ों का  प्राइवेट अस्पतालों में इलाज का पहले से सम्पूर्ण खर्चा स्वयं वहन करने का ऐलान करे। क्योंकि सच्चाई तो यह है कि छत्तीसगढ़ में निजी अस्पतालों की भागीदारी के बिना यूनिवर्सल हेल्थ केयर और कोरोना की जंग जीतना असम्भव है।

कैबिनेट में बदलाव की अटकलों के बीच प्रधानमंत्री मोदी से मिले अमित शाह, नड्डा
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS