हमार छ्त्तीसगढ़

कोविड-19:कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग टीम को दिया गया प्रशिक्षण,कलेक्टर ने कहा-टीम के सभी लोग पूरी सक्रियता व तत्परता के साथ कार्य करें

नारायणपुर-नारायणपुर जिले में मंगलवार 16 जून को 2 व्यक्तियों की कोविड-19 पॉजिटीव रिपोर्ट आने के बाद जिला प्रशासन सर्तक हो गया है। जिले में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा संक्रमितों के कॉन्टेक्ट टेªसिंग का कार्य शुरू कर दिया गया है। कलेक्टर अभिजीत सिंह ने इसी सिलसिले में आज सवेरे संबंधित टीम के सदस्यों को कम्प्यूटर आधारित प्रस्तुतिकरण के जरिए कान्टेक्ट टेªसिंग का प्रशिक्षण दिया। इस दौरान उन्होंने बताया कि कैसे कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों को ढूंढ सकते है।सीजीवालडॉटकॉम के WhatsApp NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

कलेक्टर ने प्रशिक्षण के दौरान विस्तृत जानकारी में बताया कि कांॅंटेक्ट ट्रेसिंग के माध्यम से पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की दो सूची तैयार की जाती है। एक हाई रिस्क तथा दूसरी लो रिस्क की होती है। हाई रिस्क में वे लोग होते हैं, जो पॉजिटिव मरीज के सीधे संपर्क में आते हैं और लो रिस्क में कार्य क्षेत्र व पड़ोस के लोग होते हैं। सूची अनुसार ही कार्यवाही की जाती है। टीम में स्वास्थ्य एवं पुलिस विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को शामिल किया गया है। कन्टेन्मेंट प्लान एवं कॉंन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए डिप्टी कलेक्टर धनराज मरकाम को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है।

स्वास्थ्य विभाग के कोविड-19 नोडल अधिकारी (उप सचंालक) श्री हासिम खान ने भी कॉन्टेक्ट टेªसिंग टीम के सदस्यों को कोरोना मरीज की रिपोर्ट आने पर टीम द्वारा अपनाई जाने वाली विभिन्न प्रक्रियाओं की जानकारी दी। उन्होनंे पूरी सावधानी और गाइडलाइन का पालन करते हुए पीडित़ व्यक्ति से दूरी बनाकर बात करने, मास्क पहने और साबुन से हाथ धोने या सेनेटाइजर का उपयोग करने आदि सावधानी बरतने की बात बतायी।

कलेक्टर ने कहा कि कान्टेक्ट टेªसिंग का दायित्व जिन्हें सौंपा गया है वे उसे पूरी तत्परता और सावधानी के साथ पूरा करें । मैदानी (फिल्ड) अमला कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति की जानकारी मिलने पर दो घंटे के भीतर पीड़ित व्यक्ति की हाल की गतिविधियों और संपर्को आदि की जानकारी लेंगे। जानकारी लेने के बाद वे संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों से कॉन्टेक्ट करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी गतिविधियों और प्राप्त जानकारी निर्धारित प्ररूप में भरें। इसमें किसी प्रकार की चूक, गलती नहीं हो और कोई जानकारी छूटे नहीं इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये।

आगजनी से पीड़ित परिवार को मिली 94 हजार की सरकारी मदद....... जागृति महिला मंडल की भूमिका सराहनीय

कलेक्टर अभिजीत सिंह ने अधिकारियों की तारीफ करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से इस लड़ाई में आप सभी ने अब तक प्रशंसनीय काम किया है, मुझे विश्वास है कि आप आगे भी ऐसा ही काम करंेगे। प्रशिक्षण के दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत राहुल देव, अतिरिक्त पुलिस श्री जयंत वैष्णव, अनुविभागीय अधिकारी दिनेश नाग, डिप्टी कलेक्टर निधी साहू, सर्वश्री वैभव क्षेत्रज्ञ, फागेश सिन्हा, धनराज मरकाम के अलावा संबंधित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे । 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS