मेरा बिलासपुर

कोविड-19 अस्पताल में कोरोना के 5 मरीज भर्ती..अन्य मरीजों समेत व्यापारियों में दहशत..कांग्रेस नेता ने कहा..उचित व्यवस्था करे प्रशासन

बिलासपुर—- कोविड-19 अस्पताल बिलासपुर यानि जिला अस्पताल में जांजगीर में पाए गए पांच कोरोना संक्रमित मरीजो को भर्ती किया गया है। जिला अस्पताल में  मरीजों की भर्ती के बाद सामान्य मरीज समेत परिजनों और आस पास के व्यापारियों में दशहत है। मरीजों के परिजन और खासकर व्यापारी बहुत परेशान हैं। लोगों की परेशानी को देखते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रशासन से सम्पर्क कर उचित व्यवस्था की मांग की है।
 
              जांजगीर के सभी पांच संक्रमित मरीजों को जिला अस्पताल यानि संभागीय कोविड-19 अस्पताल बिलासपुर में भर्ती किया गया है। मरीजों की भर्ती के बाद अस्पताल में भर्ती सामान्य मरीजों समेत परिजनों में कोरोना को लेकर दहशत कुछ ज्यादा ही बढ़ गयी है। इसके अलावा आसपास के प्रतिष्ठानों के व्यापारियों में भी भय का वातावरण है। 
        
             मामले में जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने लोगों की चिंता को गंभीरता से लिया है। साथ ही प्रशासन से मांग की है कि आसपास के सभी व्यापारियों और सामान्य मरीजों के डर को दूर करने का यथा संभव उपाय किया जाए। जरूरत पड़ने पर सर्वहित में कदम भी उठाया जाए।
  
         विजय केशरवानी ने बताया कि कोविड-19 अस्पातल में कोरोना के पांच मरीजों का इलाज किया जा रहा है। लेकिन इसका डर सामान्य मरीज और आस पास के व्यापारियों में देखने को मिल रहा है। चूंकि चालिस दिन बाद लाकडाउन में राहत मिली है। व्यापारी वर्ग ने  दुकान खोलना शुरू कर दिए हैं। कोरोना मरीज भर्ती के बाद उनका डर स्वभाविक है। सुरक्षा और व्यापारियों की आशंकाओं को दूर करना प्रशासन की जिम्मेदारी है। 
 
                 यह जानते हुए भी कि लाकडाउन के चलते लोगों को आर्थिक परेशानी से जूझना पड़ रहा है। भयभीत व्यापारी नहीं चाहेंगे कि दुबारा दुकान बन्द किया जाए। प्रशासन की जिम्मेदारी बनती है कि उचित कदम उठाए। साथ ही सामान्य मरीजों की सुरक्षा को लेकर दिशा निर्देश जारी करे। 
    
         केशरवानी ने बताया जिला अस्पताल का आस पास क्षेत्र बिलासपुर जिले का व्यापारि केन्द्रों में एक है। लाकडाउन के पहले यहां एक दिन में करोडों का व्यवसाय होता रहा है। अब व्यापारियों ने दुकान खोलना शुरू कर दिया है। बदलते परिवेश में इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि कोरोना से लोग सुरक्षित नहीं हैं। इसलिए प्रशासन को इस बात को गंभीरता से लेने की जरूरत है। चूंकि क्षेत्र सर्वाधिक भीड़भाड़ वाला है। यदि प्रशासन को उचित लगे तो आस पास के दुकानों को सुरक्षा को लेकर उचित समझाइश दी जाए।

देशी शराब के साथ आरोपी भी पकड़ाया...आरोपी पर मामला दर्ज..न्यायालय ने भेजा केन्द्रीय जेल
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS