मेरा बिलासपुर

खाली हाथ लौटे आटो हड़ताली

IMG-20151009-WA0005बिलासपुर— आज आटो संघ ने अपना हड़ताल प्रशासन से चर्चा के बाद वापस ले लिया है। आटो संघ ने यातायात और आरटीओ की संयुक्त टीम की कार्रवाई के बाद पिछले एक दिन से हड़ताल पर जाने का एलान किया था। आज आटो संघ के कार्यकर्ताओं ने नेहरू चौक पर धरना प्रदर्शन के बाद कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। इस दौरान प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

मालूम हो कि कलेक्टर के आदेश के बाद आरटीओ और यातायात पुलिस की संयुक्त टीम ने स्कूल में बच्चों को लाने ले जाने वाले ओव्हर लोड वाहनों जमकर कार्रवाई की। आटो चालकों ने कार्रवाई का विरोध करते हुए एक दिन पहले अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने का एलान कर दिया। आज आटो चालक संघ ने अधिकारियों से मिलकर अपना हड़ताल वापस भी ले लिया है।

                                    आटो चालक संघ नेताओं ने बताया कि यदि पालक परेशान नहीं है तो प्रशासन को परेशान होने की जरूरत नहीं है। यदि हमे पालक लोग सही किराया दें तो अतिरिक्त सवारी को नहीं बैठाएंगे। उन्होंने बताया कि महंगाई बढ़ गयी है। लेकिन हम लोगों को उतना ही किराया मिलता है जितना पहले मिला करता था। प्रशासन ने हम लोगों को कहा है कि निर्णय तक पहुंचने से पहले आटो चालक शासन के निर्देशों का पालन करेंगे। यदि उनकी मांगो पर विचार नहीं किया जाता है तो फिर से आंदोलन करेंगे।

                           पत्रकारों से चर्चा करते हुए आटो चालक संघ के नेता ने बताया कि आज हमने जिला प्रशासन के अधिकारी नीलकंठ टेकाम से बातचीत हुई है। उन्होंने हमारी मांगो पर गंभीरता से विचार करने को कहा है। इसलिए हम लोग अपना हड़ताल वापस लेते हैं।

कांग्रेसियों को मिली फटकार...उरांव ने दिया कार्रवाई का संकेत...महंत और डहरिया नाराज...कार्यकर्ताओं से नहीं मिले भूपेश

                           मालूम हो कि आटो चालकों के हड़ताल पर चले जाने से शहर की यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी। कुछ आटो चालकों ने मौके का फायदा भी उठाया। उन्होंने सवारियों से दस गुना ज्यादा किराया वसूला। वहीं सिटी बस में लोगों की खचाखच भीड़ देखने को मिली।

 पत्रकारों से चर्चा करते हुए नीलकंठ टेकाम ने बताया कि आटो चालकों को स्पष्ट रूप से कहा गया है कि वे लोग शासन के आदेशों को गंभीरता के साथ पालन करें। यदि आदेश के अवहेलना करते कोई पाया गया तो कार्रवाई होगी। डीजल आटो में पांच, पेट्रोल आटो में तीन, टैक्सी में 9 बच्चों को ही बैठाया जाएगा।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS