गरियाबंद के धान खरीदी केंद्र में अचानक पहुंचे CS आरपी मंडल…. कलेक्टर सहित कई अफसरों पर जमकर बरसे

गरियाबंद।धान खरीदी केंद्रों का औचक निरीक्षण करने गरियाबंद जिले के झाखरपारा खरीदी केंद्र पहुंचे चीफ सेक्रेटरी आरपी मंडल अव्यवस्थाओं को देखकर कलेक्टर समेत तमाम अधिकारियों पर जमकर बरसे।CS ने मौके पर गहरी नाराजगी जाहिर करते हुए सख्त लहजे में पूछा कि क्या धान खरीदी का क ख ग नहीं जानते हो? मंडल ने खरीदी केंद्र में लापरवाही देखकर चेतावनी भरे अंदाज में दो टूक कहा कि यह बहुत बुरी बात है, यदि धान खरीदी की प्रक्रिया में चूक हुई, तो यह अच्छा नहीं होगा. सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

गौरतलब है कि CS आर पी मंडल, फूड सेक्रेटरी डा कमलप्रीत सिंह और मार्कफेड की एम डी शम्मी आबिदी के साथ धान खरीदी की समीक्षा करने प्रदेश व्यापी दौरे पर हैं. धान खरीदी में आ रही गड़बड़ियों की शिकायत के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने व्यक्तिगत तौर पर चीफ सेक्रेटरी को यह जिम्मेदारी सौंपी है कि वह प्रदेश का दौरा कर मैदानी हालात से रूबरू हों.

गरियाबंद जिले के झाखरपारा धान खरीदी केंद्र में औचक निरीक्षण के दौरान चीफ सेक्रेटरी आर पी मंडल ने बारदाने के स्टैकिंग और स्टेंसिल को देखकर भड़क गए. उन्होंने इस बात को लेकर गहरी नाराजगी जताई कि धान खरीदी के बाद रखे गए बोरों की स्टैकिंग तय मापदंड के अनुरूप नहीं है. ज्यादा संख्या में उन्हें अव्यवस्थित ढंग से रख दिया गया है, जिसकी वजह से उनकी गिनती सहीं तरीके से नहीं की जा सकती.

साथ ही बारदानों के रिकार्ड पंजी दुरूस्त नहीं होने पर भी उन्होंने नाराजगी जाहिर की और कलेक्टर, एसडीएम समेत जिले के तमाम आला अफसरों की जमकर क्लास ली.

चीफ सेक्रेटरी ने तमाम खामियों को तुरंत दुरूस्त करने के निर्देश दिए. इस दौरान उन्होंने धान बेचने आए किसानों से भी चर्चा की. चीफ सेक्रेटरी ने किसानों को आश्वस्त किया है कि 15 फरवरी तक होने वाली धान खरीदी में पंजीकृत किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल धान लिया जाएगा. पहले व्यवस्था दुरूस्त किया जाएगा, इसके बाद लिमिट बढ़ा दिया जाएगा.

Comments

  1. By Ramkhelawan

    Reply

  2. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *