गांधीवादी नेता से पुलिस ने किया दुर्व्यवहार..जसबीर

AAP.JASBIRबिलासपुर—प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर नेहरू चौक पर अनशन पर बैठे गांधीवादी नेता राधेश्याम को पुलिस ने हिरासत में लिया बाद में निशर्त रिहा भी कर दिया । राधेश्याम के अनशन को समर्थन देने पहुंचे आमआदमी पार्टी नेताओं को भी पुलिस ने करीब एक बजे हिरासत में लेकर तोरवा थाना भेज दिया। शाम 6 बजे सभी नेताओं को राधेश्याम शर्मा के साथ रिहा कर दिया गया। आम आदमी पार्टी नेता सरदार जसबीर सिंह ने पुलिस पर अनशनकारियों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप लगाया है।

                     1 अप्रैल से नेहरू चौक पर प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे गांदीवादी नेता राधेश्याम शर्मा और आप नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर तोरवा थाना भेज दिया। शाम करीब 6 बजे सभी नेताओं को पुलिस ने निःशर्त रिहा भी कर दिया। मालूम हो कि राधेश्याम शर्मा ने प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की मांग करते हुए 19 मार्च से 31 मार्च के बीच सायकल यात्रा की है। बिलासपुर पहुंचने के बाद राधेश्याम शर्मा और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने नेहरू चौक पर एक मार्च से धरना प्रदर्शन कर रहे थे। सरकार से प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की मांग कर रहे थे।

              धरना प्रदर्शन के दूसरे दिन रविवार को दोपहर करीब एक बजे आप नेताओं समेत राधेश्याम शर्मा को पुलिस ने जबरदस्ती उठा लिया। सभी को गिरफ्तार कर तोरवा थाना भेज दिया।

                              बिल्हा विधानसभा आम आदमी पार्टी संयोजक सरदार जसबीर ने बताया कि पुलिस ने आप नेता और बुजुर्ग समाजसेवी के साथ दुर्व्यवहार किया है। पुलिस ने अनशनकारियों को घसीटते हुए गाड़ी पर बैठाकर थाना भेज दिया। जसबीर ने बताया कि लोकतंत्र में सभी को धरना प्रदर्शन और हक की लड़ाई लड़ने का अधिकार है। नेताओं के साथ जैसा व्यवहार किया गया इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि आम जनता के साथ पुलिस किस तरह व्यवहार करती होगी

                               जसबीर ने बताया कि राधेश्याम शर्मा सम्मानित गांधी विचार के नेता हैं। आम आदमी पार्टी उनका समर्थन कर रही थी। प्रदेश की जनता चाहती है कि छत्तीसगढ़ में शराब पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगे। बावजूद इसके भाजपा सरकार शराब बेचने जिम्मा उठा लिया है। शर्म की बात है कि सरकार को कुपोषण, किसानों की हालत, बदतर शिक्षा व्यवस्था नहीं दिखाई दे रही है। लेकिन शराब बेचने के लिए बेचैन है। इतना ही नहीं पूरे सिस्टम को शराब बेचने के लिए लगा दिया गया है। जसबीर के अनुसार शराब की दुकानें जबरदस्ती मंदिर,मस्जिद,गुरूद्वारा, चर्च,स्कूल और अस्पतालों के पास खोला जा रहा है। सरकार के इस निर्णय को आम आदमी पार्टी कभी बर्दास्त नहीं करेगी।

मालूम हो कि छत्तीसगढ भवन में मुख्यमंत्री का कार्यक्रम था। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस ने सीएम के आने से पहले राधेश्याम शर्मा समेत आप नेता सरदार जसबीर सिंह, भानु चन्द्रा,अनिल सिंह बघेल, ठाकुर दिलदार, ,संजय अग्रवाल.रवि यादव,विनिता सिंह को गिरफ्तार तोरवा थाना भेज दिया। थाने में घंटो बैठाने के बाद शाम 6 बजे सभी को रिहा कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *