गिरफ्तार नेताओं ने किया प्रशासन को बेचैन

बिलासपुर— बिल्हा ब्लाक स्थित नान गोदाम का भौतिक सत्यापन करने पहुंचे कांग्रेसियों को हिर्री और बिल्हा पुलिस ने गिरफ्तार करने के कुछ घंटों बाद छोड़ दिया। गिरफ्तार करने के पहले और बाद में कांग्रेसियों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेजबाजी करते हुए अधिकारियों और मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा।

                      बिल्हा धानसंग्रहण केन्द्र के बाद नान गोदाम का भौतिक सत्यापन करने पहुंचे कांग्रेसियों की अधिकारियों के सामने एक नहीं चली। कांग्रेसियों के पहुचने से पहले ही गोदाम के कर्मचारी ताला लगागर नदारद हो गए। आक्रोशित कांग्रेसियों ने इसके बाद प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए नान अधिकारियों पर भी निशाना साधा।

                      इसके पहले हालात बिगड़ते बिल्हा एसडीएम भी मौके पर पहुंच गये। कांग्रेसियों को समझाने का प्रयास किया कि सरकारी संस्थानों का उन्हें सत्यापन करने का अधिकार नहीं है। साथ ही अर्जुन सिंसोदिया ने कांग्रेसियों को बताया कि दस्तावेज जांच के कुछ नियम होते हैं उनका पालन हमें और कांग्रेसियों को करना होगा। समझाइश के बाद भी एसडीएम से गोदाम खुलवाने की जिद पर अड़े रहे। प्रशासन के खिलाप जमकर नारेबाजी करते रहे। इस बीच प्रशासन और जिला कांग्रेस नेताओं के बीच जमकर हुज्जतबाजी भी चलती रही।

                     मामला सुलझते नहीं देख बिल्हा एसडीएम अर्जुन सिसोदिया के आदेश पर गोदाम जांच करने पहुंचे जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला, प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव,नरेन्द्र बोलर,मरवाही अमित जोगी,बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक, वरिष्ट कांग्रेसे नेता आशीष श्रीवास्तव और लोरमी पूर्व विधायक धर्मजीत सिंह समेत उपस्थित सभी नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में सभी को बिना शर्त रिहा भी कर दिया गया।

जारी रहेगी लड़ाई

 कांग्रेस भाजपा सरकार की तानाशाही के सामने झुकने को तैयार नहीं है। जेल क्या यदि हमें फांसी की भी सजा मिलती है तो हम गरीब किसानों और मजदूरों की लड़ाई जारी रखेंगे। जांच समिति अपने अभियान को किसी भी सूरत में बन्द नहीं करने वाली है।

                                                                                                         राजेन्द्र शुक्ला.जिला कांग्रेस अध्यक्ष ग्रामीण बिलासपुर

36 हजार करोड़ का घोटाला

36 हजार करोड़ का घोटाला कोई मामूली घोटाला नहीं है। इस घोटाले ने गरीबों का हक छीना है। अधिकारी और मंत्री मालामाल हो गए हैं। प्रदेश सरकार की पोल अब खुल चुकी है। जनता सबक सीखा कर रहेगी।

                                                                                                        अटल श्रीवास्तव..पीसीसी महामंत्री…छत्तीसगढ़

कांग्रेस बनेगी जनता की आवाज 

           हम जनता के सेवक हैं। प्रधान सेवक और चाउर वाले बाबा की हकीकत जानने के लिए नान गोदाम आए थे। गिरफ्तारी के बाद लोगों को समझ में आ गया है कि प्रदेश सरकार तानाशाहों और पूंजीपतियों के लिए काम कर रही हैष अधिकारी नान घोटाले में बराबर के भागीदार हैं। पुलिस भी सरकार के इशारे पर जनता की आवाज को दबाने का प्रयास कर रही है। लेकिन कांग्रेस ऐसा नहीं होने देगी। जनता की आवाज बनकर काम करेगी।

                                                                                     आशीष सिंह ठाकुर…वरिष्ठ कांग्रेस नेता..बिलासपुर

Comments

  1. By nawal sharma .

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.