गैस कनेक्शन में लापरवाही…सरपंच होंगे जिम्मेदार-तायल

ujwala yojna sambandhi baithak (1)बिलासपुर—खाद्य विभाग उप सचिव ने संभागीय अधिकारियों से कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना को ईमानदारी और निष्ठा के साथ जन-जन तक पहुंचाए। मंथन सभागार में आयोजित संभागीय बैठक में  शिवानंद तायल ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा की। सभी अधिकारियों से गैस कनेक्शन के लिए कार्ययोजना तैयार लक्ष्य निर्धारित करने को कहा।

                        बैठक के दौरान तायल ने प्रधानमत्री उज्जवला योजना पर समीक्षा करते हुए रायगढ़ और जांजगीर जिले की रिपोर्ट पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होने नकारात्मक रिपोर्ट की वजह भी पूछा।तायल ने कहा कि एजेंसियों को कोई समस्या हो तो उसका तत्काल निराकरण किया जाए। साथ ही जिले में हर महीने 1200 गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य निर्धारित किया।

                               तायल ने कहा कि विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा परिवारों के नाम उज्जवला योजना की पात्रता सूची में नहीं है। कुछ लोगों के नाम किन्ही कारणों से शामिल नहीं किया जा सका है। ऐसे परिवारों को नाम उज्जवला योजना में विशेष अनुमति के बाद शामिल किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में आगामी तीन-चार साल के भीतर 25 लाख निःशुल्क गैस कनेक्शन दिया जाना है।

                     इस साल 10 लाख गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है। आगामी सत्र के लिए कार्ययोजना बनाकर लक्ष्य निर्धारित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि निःशुल्क गैस वितरण में आने वाली शिकायतों को गंभीरता के साथ लिया जाए। तायल ने बताया कि  सिलेण्डर वितरण नहीं होने पर सरपंचों को जिम्मेदार माना जाएगा। दुर्गम क्षेत्रों में गैस वितरण का कार्य सहकारी समितियां करेंगी।

कैशलेस ट्रांजेक्शन

                  तायल ने  पेट्रोल पंप और गैस वितरक एजेंसियों में कैशलेस ट्रांजेक्शन के निर्देश दिए। गैस वितरण एजेंसियों को कैशलेस ट्रांजेक्शन के लिए पीओएस मशीन लगाने को कहा। घर पहुंच सेवा के माध्यम से गैस सिलेण्डर वितरण में भी पीओएस मशीन का उपयोग प्रारंभ किया जाये।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *