गोलीकाणडः सुपारी लेने,देने और निशाना बनाने वाला पहुंंचा जेल…सौतन ने दी थी रास्ते से हटाने की जिम्मेदारी

बिलासपुर— करीब 17 दिन पहले तखतपुर में मोतिमपुर गोलीकाण्ड के फरार आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है। गोलीकाण्ड में आंगनबाडी सहायिका जोगिता बंजारे गंभीर रूप से घायल हो गयी। पुलिस ने घायल महिला को तत्काल उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 307 और आईपीसी की धारा 25,27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पुलिस की जांच पड़ताल शुरू हुई। पुलिस ने गोलीकाण्ड के आरोपियों यशवंत सोनी और त्रिलोचन को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेज दिया है।

                   मालूम हो कि 15 जनवरी 2019 को तखतपुर के मोतिमपुर में आंगनबाड़ी की एक सहायिका को अज्ञात आरोपियों ने देशी कट्टा से हमला कर दिया। महिला गीता ऊर्फ जोगिता बंजारे गंभीर रूप से घायल हो गयी। पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा ने मामले में तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिया। तखतपुर पुलिस मौके पर पहुंच पीड़त को तत्काल उपचार के लिए अस्पातल में दाखिल कराया। इस दौरान पूछताछ की कार्रवाई में सामने आया कि हमला करने वालों में दो आरोपी शामिल हैं।

एडिश्लल एसपी ग्रामीण अर्चना झा ने बताया कि घटना को लेकर करीब 100 से अधिक लोगों से पूछताछ हुई।  जानकारी मिली कि घायल महिला अपने पति से अलग रहती है। उसका अपने सौतन से झगड़ा भी है। पीड़ित महिला ने भी पूछताछ में अपने सौतन उर्मिला बंजारे पर हत्या करवाने की आशंका जाहिर की। पीड़ित महिला ने बताया कि वह अपने पति पवन बंंजारे से अलग रहती है। पवन बंजारे से उसकी शादी 1987 धमतरी कुरूद निवासी पवन बंजारे से हुई थी।

गीता ऊर्फ जोगिता बंजारे शादी के कुछ सालों बाद अलग रहने लगी। महिला के अनुसार पति का किसी अन्य महिला से प्रेम संबध चल रहा था। बाद में पति ने उससे शादी भी कर लिया। इसके बाद वह अलग रहने लगी। पवन बंजारे पर गीता ने दहेज प्रकरण,भरण पोषण घरेलू हिंसा का मामला कोर्ट में करा दी। इससे परेशान होकर पवन बंजारे की दूसरी पत्नी उर्मिला भास्कर कई बार गीता को समझाने मोतिमपुर गयी। लेकिन बात नहीं बनी।

                                                           इसके बाद पवन बंजारे की दूसरी पत्नी उर्मिला ने जोगिता बंजारे को रास्ते से हटाने के लिए यशवंत सोनी निवासी सुकली जिला लोरमी को डेढ़ लाख रूपए में सुपारी दी। यशवंत सोनी ने अपने भतीजा गुड्डू सोनी निवासी पहंदा चौकी बेलगहना थाना कोटा को जोगित बंजारे को मारने भेजा। पूछताछ के दौरान गुड्डू सोनी ने स्वीकार किया कि 15 जनवरी की दोपहर योजना के अनुसार मोतिमपुर पहुंंचकर आंगनबाड़ी सहायिका पर देशी कट्टा से फायर कर खेत की तरफ भाग गया। खेत में ही देशी कट्टा को फेंक भी दिया।  पुलिस ने गुड्डू सोनी की निशानदेही पर देशी कट्टा को बरामद किया है।

एडिश्नल एपी ने जानकारी दी कि आरोपियों को सुपारी देने वाली जोगिता ऊर्फ गीता बंजारे की सौतन उर्मिला को 25 जनवरी को जेल भेज दिया है। इस बीच उससे पूछताछ की गयी थी। इसके बाद यशवंत सोनी निवासी सुकली लोरमी को 1 फरवरी और त्रिलोचन ऊर्फ गुड्डू को 2 फरवरी को गिरफ्तार करने के बाद न्यायिक रिमाण्ड में जेल भेज दिया गया है।

गोलीकाण्ड की मिस्ट्री को सामने लाने वालों में तखतपुर थाना प्रभारी निरीक्षक शरद चन्द्रा, उप निरीक्षक राकेश साहू,किरण सिंह,सहायक उप निरीक्षक रामचन्द्र,प्रधान आरक्षक शिव साहू,नवीन दुबे,भैयामणि शुक्ला, तिर्की,आरक्षक संंजय कश्यप, राजेश डाहिरे, मिथलेश सोनवानी और महिला आरक्षक सुनीता धुर्वे के साथ साइबर सेल से सहायक उप निरीक्षक हेमन्द आदित्य और टीम ने जमकर मेहनत की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *