मेरा बिलासपुर

ग्यारह महीना…900 अपराध…कई मामलों में पुलिस चुप

s.p. officeबिलासपुर—-बिलासपुर पुलिस के आफिसियल आंकड़ों के अनुसार साल 2016-17 में करीब 900 अपराधिक घटनाएं हुई हैं। पुलिस का दावा है कि अपराध पर अंकुश लगा है। लेकिन आंकड़े कुछ और ही बयान कर रहे हैं। चोरों ने शहरी और ग्रामीण दोनों ही क्षेत्रों में बराबर उपस्थित जाहिर किया है। आंकड़ों के अनुसार प्रति महीने के हिसाब से 80 से अधिक चोरी का मामला सामने आया है। अभी दिसम्बर महीना को बीतने में बीस दिन बाकी हैं।
                       पुलिस के आफिसियल आंकड़ों के अनुसार अभी तक जिले में 896 चोरी के मामले दर्ज किये गए हैं। ज्यादातर चोर अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं। पुलिस हाथ पर हाथ रखे बैठी है। महीने के हिसाब से आंकड़ों पर नजर डाले तो जनवरी में 112, फरवरी में 96, मार्च में 81, अप्रैल में 76,मई में 83, जून में 69, जुलाई में 87, अगस्त में 88, सिंतबर में 107, अक्टूबर में 115,नवंबर में चोरी की 20 वारदात हुई हैं। 896 में दिसम्बर का आंकड़ा शामिल नहीं है।
                        मजेदार बात है कि साल भर दर्ज चोरी के अधिकांश बड़े मामलों में आरोपियों तक पुलिस अभी तक नहीं पहुंच पायी है। जानकारी के अनुसार साल 2016-17 में 60 से अधिक लूटपाट की घटनाएं दर्ज की गयी हैं। अधिकांश लूट के मामलों में पुलिस को सफलता हाथ लगी है। आरोपियों को पकड़ने में कामयाबी मिली है।
                गंभीर मामलों की बात करें तो इस साल 60 हत्याएं हुई हैं। दुष्कर्म के 112 मामले दर्ज किए गए हैं। दहेज के कारण 5 हत्या का मामला दर्ज किया गया है। अधिकांश मामले अभी भी पुलिस के लिए पहेली है। पुलिस आलाधिकारियों की माने तो हर साल आपराधिक गतिविधियों में इजाफा होना स्वभाविक घटना है। इसकी मुख्य वजह तेजी से बढ़ती आबादी है।

बीयू में दो दिवसीय जॉब मेला
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS