मेरा बिलासपुर

चुनावी साल में कांग्रेसियों पर निशाना….. रैली निकालकर आईजी से मिले कांग्रेसी…. निष्पक्ष जाँच की रखी मांग

बिलासपुर । कांग्रेस कार्यकर्ताओँ ने गुरूवार को  कांग्रेस भवन से  जिला ग्रामीण अध्यक्ष विजय केशरवानी की अगुवाई में रैली निकाली । यह रैली आईजी कार्यालय के सामने जाकर खत्म हुई   । जहाँ कांग्रेस नेताओं के  प्रतिनिधिमंडल  ने आईजी दीपांशु काबरा से मिलकर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता शैलेश पांडे के खिलाफ कोटा थाने में दर्ज FIR के बारे में बातचीत की । साथ ही चुनावी वर्ष में कांग्रेसियों को निशाना बनाए जाने की स्थिति में पुलिस से सतर्कता के साथ कार्रवाई की मांग की ।
विजय केशरवानी ने  दीपांशु काबरा को  बताया कि  शैलेश पाण्डेय प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता है  । इसके पहले सीवीआरयू में कुल सचिव के पद पर कार्यरत थे  । पिछले कुछ दिन पहले प्रमेंद्र मानिकपुरी नामक एक व्यक्ति ने शैलेश पांडे के खिलाफ आर्थिक अपराध अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराया । जबकि शैलेश पांडे न सरकारी कर्मचारी है और ना ही लोक सेवक ।  ऐसी स्थिति में उनके खिलाफ FIR में जो धाराएं लगाई गई है वह गलत है । प्रतिनिधि मंडल में शामिलअनिल सिंह चौहान ने बारी-बारी से अपनी बातों को आईजी दीपांशु काबरा के सामने रखा  । शिकायतकर्ता के खिलाफ पहले से ही कई मामले थाने में दर्ज है और कई बार कुलसचिव रहते हुए शैलेश पांडे ने कोटा थाने में शिकायत की थी ।  बावजूद इसके आज तक मानिकपुरी के खिलाफ एक भी मामला दर्ज नहीं किया गया ।  ऐसा लगता है कि शैलेश पांडे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है वह कहीं न कहीं राजनीतिक साजिश की तरफ इशारा करता है ।   विजय केशरवानी ने कहा कि ऐसा लगता है कि सत्ता पक्ष चुन-चुनकर कांग्रेस को निशाना बना रहा है  । हमारा निवेदन है कि किसी भी प्रकार की कार्यवाही से पहले मामले में निष्पक्ष जांच हो और उसके बाद निर्णय पर पहुंचने पर ही किसी प्रकार की पुलिस कार्यवाही हो ।  विजय ने यह भी बताया कि क्योंकि चुनाव वर्ष चल रहा है ऐसी सूरत में कांग्रेसियों को निशाना बनाया जा सकता है ।  किसी भी शिकायत पर पुलिस कार्यवाही से पहले जिसके खिलाफ शिकायत की जा रही है उससे भी बातचीत की जाए  । जांच पड़ताल की जाए  । कांग्रेस नेताओं ने कहा कि बेहतर होगा पुलिस इसके पहले कार्यवाही करें, प्रमेन्द्र  मानिकपुरी के शिकायतों पर गंभीरता से जांच पड़ताल की जाए ।
आईजी दीपांशु काबरा ने कहा कि  मामले में पुलिस पूरी तरह निष्पक्ष रहेगी ।  मानिकपुरी ने जिस  आधार पर शिकायत की  है , उसे देखते हुए  पूर्व कुलसचिव  सचिव वर्तमान कांग्रेस प्रवक्ता शैलेश पांडे को भी नोटिस जारी किया जाएगा ।  दस्तावेज की मांग की जाएगी । विवि  यूजीसी के मापदण्डों  को पूरा करता हैं या नहीं करता हैं इसकी भी जांच पड़ताल होगी  । यदि मामला झूठा पाया गया तो केस को निरस्त कर दिया जाएगा ।
  शैलेश पांडे के पक्ष में अभय नारायण राय ने भी अपनी बातों को रखा  । सभी नेताओं ने कहा कि कांग्रेसियों को चुन-चुनकर निशाना बनाया जा रहा है  । प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ झूठे आरोप में सीबीआई जांच हो रही है ।  इसलिए कांग्रेस मांग करती है कि आरोप दर्ज करने से पहले पुलिस प्रशासन सतर्कता के साथ अपनी भूमिका का निर्वहन करें ।  प्रतिनिधिमंडल में विजय केशरवानी , नरेंद्र बोलर  के अलावा एस पी  चतुर्वेदी, सीमा पांडे, शेख नजरुद्दीन, शैलेन्द्र जायसवाल,  सुधांशु मिश्रा समेत कई लोग मौजूद थे ।
कानून सम्मत होगी कार्रवाईः आरिफ शेख
कांग्रेसियों का प्रतिनिधिमंडल आई जी कार्यालय में ही पुलिस कप्तान आरिफ शेख से भी मिला।  आरिफ शेख ने कहा कानून सम्मत कार्यवाही होगी मामले की जांच करेंगे  । इसके बाद जरूरी कदम उठाएंगे ।  पत्रकारों से बातचीत करते हुए पुलिस कप्तान आरिफ शेख ने कहा की आईजी के निर्देश पर जांच पड़ताल की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है ।  जरूरत पड़ने पर प्रमेंद्र मानिकपुरी और शैलेश पांडे को तलब किया जाएगा ।  दोनों से दस्तावेज दिए जाएंगे और जांच पड़ताल होंगे और जांच पड़ताल करेंगे ।
भारी पुलिस बल तैनात
कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल आईजी से मुलाकात के पहले कांग्रेस भवन कार्यालय से बड़ी  संख्या में झंडा लेकर आईजी  कार्यालय तक रैली निकाली ।  इस दौरान कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और  आरोप लगाया कि विपक्ष को दबाने के लिए सत्ताधारी पार्टी पुलिस का उपयोग कर रही है  । कांग्रेसियों ने आई जी कार्यालय के सामने पहुंचकर जमकर नारेबाजी की ।  इस दौरान कांग्रेस भवन से लेकर आई जी कार्यालय तक भारी सुरक्षा व्यवस्था भी देखने को मिली ।  भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त पुलिस बल भी दिखाई देखने को मिला ।

 

 

घर से पकड़ाया मोटरसायकल चोर...आरोपी न्यायालय के हवाले...एक लाख का सामान बरामद
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS