चुनाव से एक दिन पहले छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर में नक्‍सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ जारी,एक नक्‍सली ढेर

बीजापुर-छत्‍तीसगढ़ में कल यानी 12 नवंबर को पहले चरण के लिए वोट डाले जाएंगे, लेकिन नक्‍सली इस चुनावी प्रक्रिया में खलल डालने पर आमादा हैं. रविवार को अंतागढ़ में नक्सलियों ने 7 ब्लास्ट किये. ब्‍लास्‍ट में BSF के सब इंस्‍पेक्‍टर महेंद्र सिंह घायल हो गए. इसके बाद कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र के आलपारस इलाके में पुलिस और नक्‍सलियों के बीच फायरिंग हुई. वहीं बीजापुर के बेड्रा इलाके में छत्‍तीगढ़ स्‍पेशल टॉस्‍क फोर्स और नक्‍सलियों के बीच रविवार को हो रहे मुठभेड़ में एक नक्‍सली मारा गया. इस दौरान एक नक्‍सली के पकड़े जाने की भी सूचना है.

मुठभेड़ अभी भी जारी है. नक्‍सलियों के पास से दो राइफल और एक जिंदा भी बरामद हुआ है.
Read More-छत्‍तीसगढ़ के पहले चरण्‍ा का रण कल,जानें किस सीट पर किससे है किसका मुकाबला

अंतागढ़ में नक्सलियों ने 7 ब्लास्ट किये. कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र के आलपारस इलाके में पुलिस और नक्‍सलियों के बीच फायरिंग हुई. ब्‍लास्‍ट में BSF के सब इंस्‍पेक्‍टर महेंद्र सिंह घायल हो गए. बता दें गुरुवार को को दंतेवाड़ा में नक्‍सिलयों ने एक बड़ा हमला कर CISF जवानों से भरी एक बस को आईईडी ब्‍लास्‍ट से उड़ा दिया था. इस हमले में 5 लोग मारे गए थे. इसमें ड्राइवर, कंडक्टर, हेल्पर और एक जवान की मौके पर ही मौत हो गई थी. इसस पहले चार जवान यहीं पर शहीद हुए थे.

बता दें छत्तीसगढ़ में आरंभिक चरण में 12 नवंबर को छत्तीसगढ़ में मतदान होगा, जिसमें जिसमें भारत में नक्सलियों का केंद्र बस्तर इलाका भी शामिल है. करीब 40,000 वर्ग किलोमीटर में फैले बस्तर इलाके में लौह-अयस्क का प्रचुर भंडार है. जनजाति बहुल इस इलाके में 12 विधानसभा क्षेत्र हैं. 1980 के दशक के आखिर से यह बड़े नक्सलियों का पनाहगाह रहा है. केंद्र सरकार ने बस्तर में नक्सलियों का उन्मूलन करने के लिए राज्य के 25,000 पुलिसकर्मियों के अलावा अर्धसैनिक बल के करीब 55,000 जवानों को तैनात कर रखा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *