चुरावन के चेहरे पर पीएम का चेहरा..कांग्रेसियों ने दागे सवाल

Exif_JPEG_420 Exif_JPEG_420बिलासपुर—-जिला शहर कांग्रेस नेताओंं ने आज हटरी चौक पर जनवेदना सम्मेलन का आयोजन किया। केंद्र सरकार की नीतियों की जमकर आलोचना की। नोटबंदी और कैशलेस अभियान को जनविरोधी और अर्थव्यवस्था के खिलाफ बताया।  कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कालाधन भ्रष्टाचार आतंकवादियो को राशि मुहैया कराने  के नाम पर देश में नोटबंदी और केशलेस अभियान से आम जनता भय भूख और सरकार के आंतक परेशान है।

                         कांग्रेस नेताओं ने कहा कि नोटबंदी के बाद लगातार नियम बदलने से आम जनता, किसान , मजदूर, छोटे व्यापारी, बीमार लोगों को काफी परेशानी हुई है। लोग एक एक रूपए के लिए मोहताज हो गए हैं। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि राहुल गाँधी के निर्देश पर लोगों की परेशानियों को देखते जनवेदना पंचायत का प्रदेश में जगह आयोजन किया जा रहा है।

       हटरी चौक पर संबोधित करते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि प्रधान ने कहा था कि 50 दिन यानि 30 दिसम्बर के बाद यदि व्यवस्था में सुधार न हो तो किसी भी चौराहे पर मैं जनता के सामने आने को तैयार हूं। पचास दिन बाद भी जनता की परेशानियों में किसी प्रकार की कमी नहीं आयी है। स्थिती बद से बदतर हो गयी है। हालात को कांग्रेस के साथ- साथ भी अनुभव कर रही है। प्रधानमंत्री को प्रदेश कांग्रेस ने पत्र भेजकर चौराहे में बुलाया गया है।

                 Exif_JPEG_420  कार्यक्रम के मंच पर पूर्व विधायक चुरावन मंगेश्कर को प्रधानमंत्री की अनुपस्थिति में मुखौटा पहनाकर बैठाया गया। आम जनों ने नोटबंदी,कैशलेस अभियान समेत चुनावी वादो को लेकर सवाल दागे। कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रो के व्यवसायियों ने नोटबंदी से होने वाली परेशानियों के बारे में बताया। व्यवसायी पवन गोयल, गोपाल राव थोटे, कपड़ा व्यापारी अमर बजाज, सीमेन्ट के कारोबारी और कांग्रेस नेता जसबीर गुम्बर ने नोटबंदी के बाद व्यापार पर पडंने वाले प्रभाव को सबके सामने रखा।

                     सभी वक्ताओं ने बताया कि नोटबंदी के निर्णय से देश 20 साल पीछे चला गया है। पूर्व सांसद करुणा शुक्ला ने कहा कि पीएम ने देश को बड़े-बडे  सपने दिखाए। चुनाव जीत गए लेकिन आज सभी वादे केवल जुमला बनकर रह गए हैं।  नोटबंदी के निर्णय के बाद देश में आर्थिक आपात काल के हालात है।  लोग अपना ही पैसा निकालने लाइन में है। नोटबंदी के बाद अब तक 135 लोगों की मौत हो चुकी है। बावजूद इसके सरकार ने संवेदनशीनता का परिचय दिया।

                    पूर्व सांसद पी आर खूंटे ने कहा कि प्रधानमंत्री देश को बताये कि अब तक कितना कालाधन जमा हुआ। कितना नकली नोट पकड़ा गया। कितने आंतकवादियों की धरपकड़ हुई। नोटबंदी और कालाधन के बीच क्या सम्बन्ध है। क्या नोटबंदी के बिना कालाधन को नही निकाला जा सकता ।

   शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर ने स्वागत भाषण दिया। उन्होने कहा कि आज देश का युवा अवसाद में है।नोटबंदी ने लाखों लोगों को बेरोजगार कर दिया है। अब तक करोडो लोगो को कल कारखानों से बाहर निकाल दिया गया है। बेरोजगार नौजवान और परिवार दाने दाने को मोहताज है।

                       प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने कहा कि मोदी को जनता से नहीं केवल और केवल पूंजीपतियो से मतलब है। पूर्व सांसद इंग्रिड मैक लाऊड  शेख गफ्फार, विजय पाण्डेय, राजेन्द्र शुक्ला, बैजनाथ चंद्राकर, अरुण तिवारी, शिवा मिश्रा, ने भी सभा को संबोधित किया। चन्द्र प्रकाश बाजपायी,निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजिरुद्दीन, प्रदेश पदाधिकारी राम शरण यादव, महेश दुबे, आशीष सिंह, रविन्द्र सिंह, कृष्ण कुमार यादव, पंकज सिंहए, राजकुमार अंचल, महेंद्र गंगोत्री, रविन्द्र सिंह, प्रमोद नायक, तरु तिवारीए सुभाष ठाकुर, मनोज शर्मा समेत जिला और ब्लाक स्तर के संगठन से सभी पादाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *