छत्तीसगढ़ में स्त्री-पुरुष अनुपात सबसे अच्छा

menka raipur

रायपुर ।   केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी ने कहा है कि जनसंख्या की दृष्टि से महिला-पुरूष अनुपात के मामले में छत्तीसगढ़ देश के सर्वश्रेष्ठ राज्यों में से है। उन्होंने छत्तीसगढ़ में महिलाओं के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में राज्य शासन द्वारा संचालित योजनाओं की प्रशंसा की है। श्रीमती गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में महिला सशक्तिकरण की दिशा में बेहतर कार्य हो रहे हैं।

श्रीमती गांधी   गुरूवार को  दोपहर राजधानी रायपुर में आयोजित प्रदेश स्तरीय महिला सम्मेलन को सम्बोधित कर रही थी। उन्होंने सम्मेलन में भारी संख्या में महिलाओं की उपस्थिति को महिला उत्थान के क्षेत्र में राज्य में हो रहे कार्यों के फलस्वरूप महिलाओं में आयी जागृति का परिचायक बताया।  श्रीमती गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश के उन सर्वश्रेष्ठ राज्यों में से है, जहां स्त्री-पुरूष का अनुपात सबसे अच्छा है। श्रीमती गांधी ने कहा कि महिलाओं के संरक्षण और विकास से ही पूरे देश तथा समाज का सही दिशा में समग्र विकास होगा। इसके लिए केन्द्र सरकार द्वारा राज्यों के सहयोग से कई कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। श्रीमती गांधी ने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ सरकार के महिला और बाल विकास विभाग की ओर से  तेजस्वी योजना का शुभारंभ करते हुए इस योजना की पुस्तिका का विमोचन भी किया। यह योजना गर्भस्थ शिशुओं की देख-भाल के लिए चलाई जाएगी। उन्होंने इसके अलावा कुपोषण मुक्ति के लिए महिला और बाल विकास विभाग की नवाजतन योजना के चौथे चरण का भी शुभारंभ किया और योजना से संबंधित पुस्तिका का विमोचन किया। सम्मेलन की अध्यक्षता मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने की। श्रीमती गांधी ने सम्मेलन में विभिन्न क्षेत्रो में उल्लेखनीय कार्य के लिए महिलाओं और स्व-सहायता समूहों को पुरस्कृत कर सम्मानित भी किया।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ देश के अग्रणी राज्यों में से है, जहां महिलाओं में आयी जागृति और सक्रियता के कारण भ्रूण हत्या जैसे घोर अपराध से मुक्ति मिल रही है। कन्या भ्रुण हत्या की रोकथाम, महिला शिक्षा के प्रसार और स्त्री-पुरूष जनसंख्या अनुपात के मामले में छत्तीसगढ़ केरल के बाद देश अग्रणी राज्य है। हम कन्या भू्रण हत्या और बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराईयों से मुक्ति की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं। छत्तीसगढ़ सरकार राज्य में गरीब परिवार की बेटियों को निःशुल्क शिक्षा की सुविधा दे रही है।

देश का पहला वन स्टॉप सेंटर शुरू

केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी और मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने यहां कालीबाड़ी के नजदीक जिला अस्पताल परिसर मेें दोपहर को वन स्टॉप सेंटर का विधिवत शुभारंभ किया। इस सेन्टर में घरेलू हिंसा, लैंगिक हिंसा, बलात्कार, दहेज उत्पीड़न, तेजाब, डायन/टोनही के नाम पर प्रताड़ित, कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीड़न, अवैध मानव व्यापार, बाल विवाह, लिंग चयन, भ्रूण हत्या तथा सती प्रथा आदि से पीड़ित सभी वर्ग की महिलाओं को सलाह, सहायता, मार्गदर्शन और संरक्षण दिया जाएगा।

नवांगाँव का अवलोकन

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी ने आज छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान रायपुर जिले के ग्राम नवागांव (विकासखंड अभनपुर) में आदर्श आंगनबाड़ी केंद्र और महिला स्व-सहायता समूह द्वारा संचालित पोषण आहार (रेडी-टू-इट) उत्पादन केन्द्र का अवलोकन किया। उन्होंने वहां बच्चों से बातचीत की। छत्तीसगढ़ सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशिला साहू  और संसदीय सचिव श्रीमती रूपकुमारी चौधरी सहित क्षेत्र के अनेक जनप्रतिनिधि भी इस अवसर पर मौजूद थे। श्रीमती गांधी ने नवागांव में पंचायत स्तरीय महिला सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ सरकार द्वारा बच्चों को कुपोषण मुक्ति दिलाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.