छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने हिंदी मीडियम स्कूल को बंद किये जाने पर जताई आपत्ति, कहा- क्या हिंदी मीडियम स्कूल बंद करने के पक्ष में है शासन?

बिलासपुर।छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजिद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, प्रदेश सचिव मनोज सनाढ्य, प्रदेश कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक ने एंग्लिश मीडियम के 51 शाला खोलने का स्वागत किया है, साथ ही अगले सत्र में सभी 146 ब्लॉक मुख्यालय में एंग्लिश मीडियम शाला खोलने का स्वागत किया है, पर लंबे समय से उसी शाला में संचालित हिंदी मीडियम शाला को बंद किये जाने पर कड़ी आपत्ति की है, शासन की मंशा पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा है कि क्या शासन हिंदी मीडियम की शालाएं बन्द करने जा रही है,? योजना से तो यही परिलक्षित हो रहा है।पहले दौर में 51 एंग्लिश मीडियम स्कूल इस वर्ष खोले गए, जहाँ 51 हिंदी मीडियम स्कूल बंद हो गए, आने वाले सत्र के लिए 146 एंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने की सभी ब्लॉक में निर्देश है, जहाँ भी हिंदी मीडियम की शाला बन्द होगी,,यह आपत्तिजनक है।व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहां क्लिक करें

जिस तामझाम व सुविधा से एंग्लिश मीडियम की शाला को सुविधा दिया जा रहा है, इससे तो यही लगता है कि अब हिंदी भाषा के बालक गौड़ हो गए, क्योकि एंग्लिश मीडियम में जो सुविधा दी जा रही है, वह हिंदी मीडियम के किसी भी शाला में नही है।वर्षों से संचालित हिंदी मीडियम स्कूलों को बंद कर इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले जाने से वहां अध्ययनरत विद्यार्थियों को अन्यत्र शाला में प्रवेश लेना पड़ रहा है, पालकगण दूरदराज के विद्यालयों में अपने बच्चों की शिक्षा निर्बाध गति से जारी रखने में अपने आपको अक्षम पा रहे हैं, साथ ही वहाँ पदस्थ शिक्षक व स्टाफ को भी अन्यत्र स्थानांतरित किये जाने से अतिशेष की स्थितियों का सामना करना पड़ रहा है।

5 वर्ष पूर्व भी बॉयज व गर्ल्स शाला को एक करते हुए करीब 3200 प्राथमिक, पूर्व माध्यमिक शालाएं बन्द की गई है, यह छत्तीसगढ़ के हिंदी भाषी जनता की शासकीय सुविधा को कम कर निजीकरण व निजी शालाओ को प्रोत्साहन देना है।प्रदेश के छत्तीसगढ़ी भाषी विद्यार्थी जो राष्ट्रभाषा हिंदी माध्यम में अपना शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं, उनके लिये वर्षो से संचालित हिंदी माध्यम के विद्यालय को यथावत रखते हुए शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल भी उसी भवन में संचालित किया जावे, हिंदी मीडियम की शाला को बंद कर केवल इंग्लिश मीडियम की शाला खोलना छात्रों व शिक्षकों के हित के खिलाफ है।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने मुख्यमंत्री, शिक्षामंत्री, मुख्य सचिव व प्रमुख सचिव शिक्षा से पत्र भेजकर मांग किया है कि पूर्व से संचालित स्कूल में हिंदी मीडियम शाला को यथावत रखते हुए दूसरी पाली में इंग्लिश मीडियम शाला खोला जावे या नए स्थान का चयन कर स्वतंत्र इंग्लिश मीडियम की शाला प्रारम्भ किया जाये, जिससे छात्रों व पालक को हिंदी व अंग्रेजी दोनो माध्यम की शासकीय शिक्षा सुलभ हो।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...