छत्तीसगढ़ मे अगले साल तक बनेंगे बिजली के 32 सबस्टेशन:सीएम रमन ने ली मीटिंग

solar_file_raipur_index_june♦बिलासपुर मे बन रहा 220केव्ही का बिजली सबस्टेशन
रायपुर।
प्रदेश में 32 विद्युत उपकेन्द्रों की स्थापना का काम मार्च 2018 तक पूर्ण होगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सोमवार को निवास पर ऊर्जा विभाग की बैठक में इन विद्युत उपकेन्द्रों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने जगदलपुर में स्थापित किए जा रहे 400 के.व्ही क्षमता के विद्युत उपकेन्द्र का कार्य दो माह के भीतर (आगामी अगस्त तक) पूर्ण करने के निर्देश दिए। डॉ. सिंह ने अधिकारियों से कहा कि इन कार्यों को समय-सीमा में पूरा करने के लिए इनकी प्रगति की नियमित मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने कहा कि यह कार्य राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले कार्यों में शामिल है। इन विद्युत उपकेन्द्रों के निर्माण से प्रदेश के लगभग 95 प्रतिशत क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण बिजली की आपूर्ति संभव हो सकेगी।

                                          बैठक में अधिकारियों ने बताया कि रायगढ़ जिले के गेरवानी में 220 के.व्ही क्षमता, कोरबा जिले के रेंकी 132 के.व्ही क्षमता, बिलासपुर जिले के कोनी और रायपुर के रावणभाटा में 132 के.व्ही क्षमता के विद्युत उपकेन्द्रों की स्थापना का काम पूर्ण हो चुका है। कांकेर जिले के चारामा और पखांजूर, कोरबा जिले के चुरीखुर्द, सरगुजा जिले के बतौली, जांजगीर-चाम्पा जिले के दरभा और शिवरीनारायण, बिलासपुर जिले के तखतपुर, मुंगेली जिले के लोरमी, जिला मुख्यालय सुकमा सहित जिले के दोरनापाल, बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर और राजपुर, जशपुर जिले के कांसाबेल, रायगढ़ जिले के कोण्डातराई, राजनांदगांव के मोहला, धमतरी जिले के भखारा और नगरी, बेमेतरा जिले के बेरला, जिला मुख्यालय बीजापुर और महासमुंद जिले के बसना में 132 के.व्ही क्षमता के विद्युत उपकेन्द्रों की स्थापना का कार्य प्रगति पर है।

                                      कबीरधाम जिला के मुख्यालय कवर्धा, रायपुर जिले के बोरझरा और धरसींवा, संभाग मुख्यालय बिलासपुर, जिला मुख्यालय नारायणपुर, बस्तर जिले के मुख्यालय जगदलपुर में 220 के.व्ही क्षमता के और धमतरी जिले के कुरूद में 400 के.व्ही क्षमता के विद्युत उपकेन्द्र की स्थापना की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *