छात्रों ने मांगा वोट..गतिविधियों पर पुलिस की नज़र

BHASKAR MISHRA
4 Min Read

election2015_jpegबिलासपुर—कालेजों में चुनाव के मद्देनजर आज कमोबेश पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। 25 यानी कल शहर समेत बिलासपुर विश्वविद्यालय के सभी 38 कालजों में चुनाव की पूरी तैयारियों पूरी हो चुकी है। कुलपति डॉ.गौरीदत्त शर्मा ने बताया कि सभी छात्र दलों के प्रमुख से एक बैठक में शांति पूर्वक चुनाव कराने को कहा  गया है। पुलिस कप्तान अभिषेक पाठक ने भी सभी कालेजों को पल-पल की गतिविधियों को अवगत कराने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि खासतौर पर संवेदनशील कालेजों में सुरक्षा के मद्देनजर पहले से ही बल तैनात कर दिया गया है।

                       भारी पुलिस व्यवस्था के बीच आज दो एक कालेजों में कुछ पल के लिए तनाव का वातावरण देखने को मिला। लेकिन पुलिस जवानों के हस्तक्षेप के बाद महौल खराब होने से पहले ही नियंत्रित कर लिया गया है। वहीं इस बीच छात्र नेताओं ने मतदाताओं से रूबरू होकर दिन भर वोट मांगा। पुख्ता सुरक्षा इंतजाम के बीच सीएमडी और डीपी विप्र महाविद्यालय में विरोधी छात्रों के बीच  हल्का तनाव देखने को जरू मिला।

             डीपी विप्र महाविद्यालय में दोपहर से ही पुलिस ने टैंट लगाया है। दो दिन पहले एबीव्हीपी कार्यकर्ताओं ने एनएसयूआई पर सचिव प्रत्याशी को अगवा करने का आरोप लगाया था। परिषद के छात्र नेताओं का आरोप है कि शेट्टी ग्रुप ने ही एबीव्हीपी के अधिकृत प्रत्याशी का नामांकन रद्द कराया है। मैनेजमेंट की भूमिका इसमे सबसे ज्यादा है।

                 शहर के सबसे बड़े कालेज सीएम़डी महाविद्यालय में इस बार मुकाबला काफी तगड़ा होना बताया जा रहा है। पिछले साल यहां पर परिषद का कब्जा था।एनएसयूआई का दावा है कि इस बार उनका पैनल जीतेगा।

             केतन सिंह के अनुसार दीपक अग्रवाल ने पिछले पांच साल से सीएमडी महाविद्यालय का नाम प्रदेश और देश में रोशन किया है। एथलिट में उनका विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय स्तर पर अनेक रिकार्ड दर्ज हैं। छात्रों का उन पर भरोसा भी है। इसके अलावा पैनल के अन्य प्रत्याशियों को छात्रों का पूरा विश्वास मिल रहा है। एबीव्हीपी इस साल भी सीएमडी में अपना परचम लहराएगा।

                 एसबीआर कालेज में मुख्य मुकाबला एबीव्हीपी बनाम एबीव्हीपी शैलेन्द्र गुट के बीच है। एनएसयूआई यहां कमजोर नजर आ रही है। शैलेन्द्र गुट को भरोसा है कि जीत के साथ संगठन को भरोसा हो जाएगा कि हमने गलत प्रत्याशी नहीं खड़ा किए थे।

             अरपांचल में नामांकन वापसी के बाद ही स्प्ष्ट हो गया था कि लगभग सभी कालेजों पर परिषद का दबदबा है। लेकिन क्षेत्र के सबसे बड़े कालेज ई.राघवेन्द्र राव महाविद्यालय में इस बार मुख्य मुकाबला परिषद बनाम नए पैनल लक्ष्य के बीच में है। नए पैनल में लगभग सभी प्रत्याशी एनएसयूआई के पुराने कार्यकर्ता हैं।

                                    मालूम हो कि कल यानी 25 अगस्त को छात्र संघ चुनाव के लिए छात्र मतदान करेंगे। देर शाम तक परिणाम भी सामने आ जाएगा। वहीं पुलिस ने किसी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम एक दिन पहले से ही कर लिए हैं।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close