हमार छ्त्तीसगढ़

जनदर्शन में रुपया बांटने की अफवाह, अर्जी लेकर पहुंच गए तीन हजार

afwah

रायपुर ।मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से गुरूवार को यहां उनके निवास परिसर में आयोजित ‘जनदर्शन’ कार्यक्रम में एक हजार से ज्यादा लोगों ने मुलाकात की। इनमें से 441 लोग विभिन्न जिलों से आए 49 प्रतिनिधि मण्डलों में शामिल थे, जिन्होंने सार्वजनिक विषयों पर मुख्यमंत्री को ज्ञापन आदि सौंपे, जबकि 661 लोगों ने व्यक्तिगत समस्याओं के बारे में आवेदन प्रस्तुत किए। इनके अलावा जनदर्शन में आज आर्थिक सहायता के लिए बिलासपुर, कोरबा आदि विभिन्न जिलों से तीन हजार 167 आवेदन प्राप्त हुए।

                            इतनी बड़ी संख्या में एक ही प्रकार के आर्थिक सहायता के लिए प्राप्त आवेदन पत्रों को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिया। उन्होंने अधिकारियों को यह पता लगाने के निर्देश दिए कि एक ही विषय पर एक साथ इतनी ज्यादा संख्या में आवेदन आने का कारण क्या है ? कहीं किसी बिचौलिए किस्म के किसी व्यक्ति के द्वारा दूर कहीं किसी एक जगह पर बैठकर लोगों को गुमराह तो नहीं किया जा रहा है ? आर्थिक सहायता के लिए किसी भी प्रकार की शासकीय राशि के आवेदन स्वीकृत करने के लिए शासकीय नियम प्रक्रिया निर्धारित है, उससे हटकर कहीं भी राशि मंजूर नहीं की जाती नगद राशि का वितरण नहीं किया जाता। अधिकारियों ने बताया कि कुछ शरारती तत्वों ने प्रदेश भर ऐसी अफवाहें फैला दी है कि ‘जनदर्शन’ कार्यक्रम में आर्थिक सहायता के अन्तर्गत नगद राशि का वितरण किया जाता है, जबकि ऐसी कोई बात नहीं है। 

                              जनदर्शन प्रभारी और ओएसडी  संजीव बख्शी ने बताया कि इस प्रकार की अफवाह फैलाने और जनता को गुमराह करने वाले तत्वों पर पुलिस अधिकारियों को पैनी निगाह रखने तथा कड़ी कानूनी कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। आम जनता से अपील की गयी है कि आर्थिक सहायता के विषय में किसी भी व्यक्ति के बहकावे में ना आएं और अफवाहों से बचें। जरूरतमंद लोगों को उनके प्रकरणों के स्वरूप के आधार पर सरकारी नियमों और प्रक्रियाओं के तहत आर्थिक सहायता मंजूर की जाती है, लेकिन जनदर्शन में नगद राशि का वितरण नहीं किया जाता। 

रमन बोले बस्तर-सरगुजा में ब्राँच खोलने से क्यों कतराते हैं कमर्शियल बैंक

 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS