मेरा बिलासपुर

जनपद पंचायतः अध्यक्ष पद का हाईवोल्टेज ड्रामा..आशीष और विक्रम सदस्यों के साथ फरार..मस्तूरी में उपाध्यक्ष के लिए सौदेबाजी..दौड़ में लहरिया की बहू भी शामिल

बिलासपुर—- 13 फरवरी को जनपद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव होगा। प्रशासनिक स्तर पर चुनाव की तैयारियां भी पूरी हो चुकी है। लेकिन पार्टी स्तर पर अब तक किसी भी पार्टी ने अध्यक्ष और उपाध्यक्ष प्रत्याशियों के नाम का एलान नहीं किया है। जानकारी मिल रही है कि मरवाही में प्रत्याशियों ने पर्यवेक्ष के साथ बैठक कर  हाईकमान को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुनने को कहा है।  तखतपुर के करीब 19 सदस्य अभी भी अज्ञात स्थान पर पर्यटन का लुत्फ उठा रहे हैं। बिल्हा में विक्रम सिंह भी 12 सदस्यों के साथ अज्ञात स्थान चले गये हैं।

         कोटा जनपद पंचायत में सीटों की कुल संख्या 25 है।अध्यक्ष पद आदिवासी मुक्त है। पद के लिए 13 फरवरी को चुनाव होना है। यहां कांग्रेस समर्थित कुल 9 प्रत्याशियों को जीत मिली है। राजनैतिक सूत्रों की माने तो कांग्रेस की सदस्य संख्या 13 पहुंच चुकी है। भाजपा अभी भी संख्याबल को लेकर हांथ पांव मा रही है। सूत्रों की माने तो यहां से कांग्रेस के धनसिंह का अध्यक्ष बनना निश्चित है।

              तखतपुर में भी 13 फरवरी को ही अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद का चुनाव होना है। अध्यक्ष पद के चुनाव में आशीष सिंह की पसंद को वरियता दी जाएगी। इस समय आशीष सिंह 19 सदस्यों के साथ पर्यटन पर है। बताते चलें कि तखतपुर जनपद पंचायत अध्यक्ष पद महिला के लिए आरक्षित है।

                    बिल्हा जनपद पंचायत में भाजपा और कांग्रेस दोनों का दावा हैं कि अध्यक्ष और उपाध्यक्ष उनकी ही पार्टी का बनेगा। चुनाव में भाजपा समर्थित 8 और कांग्रेस समर्थित 7 प्रत्याशियों की जीत हुई है। कांग्रेस का दावा है कि उनके पास निर्दलियों को मिलाकर कुल 12 सदस्यों का समर्थन है। 13 को चुनाव के दौरान दो अतिरिक्त सदस्यों के साथ कांग्रेस पार्टी बहुमत साबित करेगी। अलग बात है कि बिल्हा जनपद पंचायत उपाध्यक्ष विक्रम सिंह भाजपा समर्थित सदस्यों समेत कुल 12 लोगों को लेकर अज्ञातवास में है। बताया जा रहा है कि भाजपा के दो समर्थित प्रत्याशी राजनीतिक सरगर्मियों का अंदाजा लगाने शहर में घूम रहे है। और पल पल की गतिविधियों को हाकमान तक पहुंचा रहे है। 

होर्डिंग्स से PCC अध्यक्ष का चेहरा गायब..3 कांग्रेसियों को कारण बताओ नोटिस..3 दिन में देना होगा जवाब..होगी अनुशासनात्मक कार्रवाई..?

           राजनैतिक सूत्रों की माने तो कांग्रेस से हजारी भारद्वाज की बेटी को अध्यक्ष और मनोज पाण्डेय की पत्नी को उपाध्यक्ष बनाया जा सकता है। दिलीप लहरिया की बहू नेहा लहरिया भी उपाध्यक्ष पद की दावेदार है। जानकारी हो कि बिल्हा जनपद पंचायत अध्यक्ष का पद महिला अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है।

                      मस्तूरी में कांग्रेस और भाजपा समर्थित प्रत्याशियों की संख्या बराबर यानि 7-7 है। कांग्रेस नेता नीतेश सिंह उपाध्यक्ष बनने के लिए 12 सदस्यों को लेकर अज्ञात स्थान चले गए है। फिर भी भाजपा का दावा है कि अध्यक्ष उनका ही होगा। वहीं कांग्रेस का दावा है कि 12 सदस्य नीतेश के साथ हैं। बहुमत के लिए मात्र एक सदस्य की जरूरत है। उससे कहीं ज्यादा लोग उनके साथ है। चूंकि अध्यक्ष का पद अन्य पिछड़ा वर्ग महिला के लिए आरक्षित है। इसलिए राक गांव की राठौर और दर्रीघाट की कश्यप अध्यक्ष पद का दावा कर रही है। दोनों का कहना है कि यदि उन्हें अध्यक्ष बनाया जाता है तो कांग्रेस या भाजपा के साथ जाने को तैयार हैं। खबर मिल रही है कि भाजपा समर्थित महिला सदस्य  पटेल और साहू भी अध्यक्ष बनना चाहती हैं।

              सूत्रों की माने तो मरवाही के सभी 14 कांग्रेस समर्थित सदस्यों ने पर्यवेक्ष के सामनेएलान किया है कि हाईकमान के आदेश से  ही अध्यक्ष  प्रत्याशी का फैसला होगा। सूत्रों की माने तो मरवाही से अजय राय उपाध्यक्ष बन सकते हैं। जानकारी हो कि मरवाही जनपद पंचायत से भाजपा समर्थित 8 और जोगी कांग्रेस समर्थित 3 प्रत्याशियों की जीत हुई है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS