जनार्दन की सेवाओं को एसईसीएल ने किया याद

Press PHOTO CVO 30-05-16बिलासपुर– एसईसीएल में पाॅंच साल से मुख्य सतर्कता अधिकारी के पद पर तैनात भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी जी. जनार्दन को आज एसईसीएल कर्मियों ने भावभीनी विदाई दी। जनार्दन अब मूल पुलिस सेवा भोपाल मेंं सेवा देंगे। जनार्दन को एसईसीएल मुख्यालय प्रशासनिक भवन स्थित प्रांगण में भावभीनी विदाई दी गयी । इस अवसर पर अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक बी.आर. रेड्डी मुख्य विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम में निदेशक  वित्त ए.पी. पण्डा, निदेशक तकनीकी संचालन आर.पी. ठाकुर, निदेशक कार्मिक डाॅ. आर.एस. झा, निदेशक तकनीकी संचालन  कुलदीप प्रसाद भी उपस्थित थे।

                        जी. जनार्दन (आईपीएस) का एसईसीएल के मुखिया बी. आर. रेड्डी ने फूलमाला, शाल, श्रीफल से सम्मान किया। निदेशक मण्डल, क्षेत्रीय मुख्य महाप्रबंधकों/महाप्रबंधकों, विभागाध्यक्षों, सतर्कता विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने भी बारी-बारी से फूलमाला से सम्मानित कर जनार्नदन की सेवाओं को याद किया।

                      इस अवसर पर अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक बी.आर. रेड्डी ने कहा कि मुख्य सतर्कता अधिकारी जी. जनार्दन की पदस्थापना के दौरान एसईसीएल की व्यवस्था में पारदर्शिता और विश्वसनीयता सुनिश्चित करने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए जिसके दूरगामी परिणाम होंगे । मुख्य सतर्कता अधिकारी के लिहाज से उन्होने जागरूकता के लिए जो भी कदम उठाए वह प्रशंसनीय साबित हुए।

                         इस अवसर पर मुख्य सतर्कता अधिकारी जी. जनार्दनने कहा कि भारतीय पुलिस सेवा चुनौतीपूर्ण कैरियर है। लेकिन एसईसीएल में मुख्य सतर्कता अधिकारी के रूप में कार्य करना एक विशिष्ट अनुभव रहा है । उन्होंने एसईसीएल के कार्यप्रणाली की सराहना करते हुए कहा कि यह कम्पनी उत्पादन एवं सुरक्षा ही नहीं बल्कि प्रबंधन एवं पारदर्शिता के मामले में भी एक अव्वल कम्पनी है ।

                         निदेशक वित्त ए.पी. पण्डा, निदेशक तकनीकी संचालन आर.पी. ठाकुर, निदेशक कार्मिक डा. आर.एस. झा एवं निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना)  कुलदीप प्रसाद ने कहा कि जनार्दन अंदर से बहुत ही मजबूत और औरों के लिए प्रेरणास्पद इंसान, सहज, सरल व्यक्तित्व हैं ।

                                  महाप्रबंधक सतर्कता डी.के. चन्द्राकर ने स्वागत भाषण दिया। कार्यक्रम का संचालन हीना खान सहायक प्रबंधक कार्मिक/अधिकारी स्थापना ने किया। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन ए.एस. बापट मुख्य प्रबंधक  फारेस्ट ने दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *