मेरा बिलासपुर

जब कांग्रेसियों ने कहा…इंजीनियरों का चाहिए पहचान पत्र…सत्यापन के दौरान राजनैतिक पार्टियों को मिले तवज्जो

बिलासपुर– कांग्रेस नेताओं ने जिला प्रशासन से  ईव्हीएम मशीन की जांच करने वाले सभी इंजीनियर और टेक्नीशियनों की जांच प्रोफाईल के साथ परिचय पत्र की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव, शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, ब्लाक अध्यक्ष तैयब हुसैन के साथ कांग्रेसी प्रतिनिधिमंडल ने जिला निर्वाचन अधिकारी को कलेक्टर की अनुपस्थिति में मांग पत्र दिया है।

                      पत्र में कांग्रेसियों ने बताया है कि जिला प्रशासन के अनुसार 12 जुलाई 2018 से ईव्हीएम मशीन और सी.यू. यूनिट की फस्र्ट लेवल चेकिंग काम हैदराबाद के इंजीनियर और टेक्नीशियन कर रहे हैं। जाहिर सी बात है कि इंजीनियरों और टेक्निशियनों की कोई पहचान भी होगी। जांच पड़ताल में शामिल सभी लोगों की जानकारी दी जाए।

                    प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभय नारायण राय ने बताया कि कांग्रेस प्रतिनिधि मण्डल ने कलेक्टर की अनुपस्थिति में अतिरिक्त कलेक्टर महेश उइके के सामने मांग पत्र रखा। कांग्रेस पार्टी चाहती है कि निर्वाचन से संबंधित सभी काम संविधान के अनुच्छेद 324 के भावना के अनुरूप हो। 17 जुलाई 2018 से प्रारम्भ ईव्हीएम की फर्स्ट लेवल चेकिंग के काम में शामिल इंजीनियरों की जानकारी स्पष्ट किया जाए। ऐसा करने से लोगों को जानकारी हो जाएगी कि काम में शामिल कोई भी व्यक्ति किसी राजनैतिक पार्टी विशेष से संबंधित नहीं है ।

                                          अभय ने बताया कि कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को अतिरिक्त जिलाधीश महेश उइके ने आश्वासन दिया है कि मामले को निर्वाचन अधिकारी के सामने रखा जाएगा। जल्द ही कार्यवाही कर सूचित भी किया जाएगा। निर्वाचन से जुड़े सभी काम पारदर्शी तरीके से किया जाएगा।

रेत उत्खनन में शामिल गाड़ियों का नम्बर आरटीओ को भेजा गया..माइनिंग ने मांगा मालिकों का नाम.. अधिकारी ने बताया.जानकारी के बाद करेंगे कार्रवाई

                       प्रतिनिधिमंडल में शामिल ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष तैय्यब हुसैन ने अतिरिक्त कलेक्टर को बताया कि.. 12 जुलाई को मंथन सभागार में मामले को लेकर बैठक हुई थी।कांग्रेस ने निर्वाचन अधिकारी के सामने वोटर लिस्ट से हटाए गए 39000 नामों का भौतिक सत्यापन करने कहा गया था। सत्यापन के दौरान कांग्रेस पार्टी की तरफ से  बी.एल.ए. को करने की बात कही गयी थी। बावजूद इसके सत्यापन कार्य में जिला प्रशासन बीएलओ को तवज्जों नहीं दे रहा है।

                          तैय्यब की बातों को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त.कलेक्टर ने अधिकारियों को तत्काल निर्देश दिया कि दावा आपत्तियों कों ना केवल गंभीरता के साथ लिया। बल्कि मामले का निराकरण भी तत्काल किया जाए। सर्वेक्षण के दौरान राजनैतिक दलों के बीएलए को भी सूचित किया जाए।

              प्रतिनिधिमंडल में अभय नारायण राय और रामशरण यादव के अलावा विजय पाण्डेय, ऋषि पाण्डेय, सुभाष ठाकुर, शैलेन्द्र जायसवाल, अंकुर तिवारी, किशोर तिवारी, अखिलेश बाजपेयी मौजूद थे। इस दौरान सभी ने अलग-अलग दिनों और समय पर उपस्थित रहने की बात कही।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS