जब धरमजीत ने कहा…सरकार होगी दंत नख विहीन…ऋचा जोगी ने दिया सड़क पर धरना…घेराव के दौरान कार्यकर्ता और पुलिस में झूमाझटकी

बिलासपुर– जनता कांग्रेस नेताओं ने आज मरवाही सदन के पास धरना प्रदर्शन और भाषणबाजी के बाद कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। सरकार और प्रशासन के जमकर नारेबाजी की। सरकार की नीतियों का जमकर विरोध भी किया। इस दौरान मरवाही विधायक अमित जोगी की पत्नी ऋचा जोगी और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष धरमजीत सिंह ने सरकार पर जमकर निशाना साधा। ऋचा जोगी ने कार्यकर्ताओं की तारीफ की और युवाओं को पार्टी का स्तंभ बताया।
              जनता कांग्रेस ने आज आईजी कार्यालय से चंद कदम दूर एक आमसभा का आयोजन कर प्रदेश सरकार की रीति और नीति के खिलाफ जमकर बोला। मंच से कार्यकर्ताओं को ऋचा जोगी और धरमजीत सिंह समेत कई लोगों ने संबोधित किया। इस दौरान मंच पर बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक,जिला अध्यक्ष ज्वाला प्रसाद चतुर्वेदी, कार्यकारी जिला अध्यक्ष संतोष दुबे,संतोष कौशिक,मणिशंकर पाण्डेय,बजेश साहू,अनिल टाह विशेष रूप से मौजूद थे।
                        कार्यकर्ताओं को अपने संबोधन में ऋचा जोगी ने युवाओं का आह्ववान किया। उन्होने कहा की जिन उद्देश्यों को लेकर अजीत जोगी ने पार्टी का गठन किया है। उसे सकार करने का समय आ गया है। युवाओं को कदम बढ़ाकर पार्टी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना है। छत्तीसगढ़ जनता पार्टी मूलरूप से छत्तीसगढ के हितैषियों और युवाओं की है।
         मंच से पूर्व विधानसभा सभा उपाध्यक्ष धरमजीत ने कहा कि पिछले 15 सालों से भारतीय जनता पार्टी की सरकार प्रदेश की भोली भाली जनता को ढग रही है। वादाखिलाफी करना भारतीय जनता पार्टी की आदतों में है। समय आ गया है। कुछ ही महीनों की बात है आचार संहिता लागू होते ही सरकार दंत नख विहीन हो जाएगी। इसके बाद परिवर्तन की आंधी को कोई रोक नहीं सकता है। प्रदेश के मुख्यमंत्री अजीत जोगी बनेंगे। इसी के साथ किसान और युवाओं की शिकायतें एक आदेश से दूर हो जाएंगी।
                          धरमजीत ने कहा कि किसान आत्महत्या कर रहा है। मनरेगा मजदूरों का भूगतान सालों से नहीं हुआ है। फसल बीमा योजना से किसानों को ठग कर बीमा कंपनियों को फायदा पहुंचाया जा रहा है। सरकार निरंकुश हो चुकी है। बेरोजगार युवक दर दर भटकने को मजबूर हैं। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। लेकिन मुख्यमंत्री ना जाने कौन सी विकास की बातें करते हैं। उन्होने कहा कि राज्य सरकार उत्सव मना रही है। विकास यात्रा कर रही है। सरकारी खजाने को भाजपा के नेता लूट रहे हैं। चिंता की बात नहीं है क्योंकि अब उनके गिनती के दिन ही बाकी रह गए हैं।
                       भाषणवाजी के बाद सैकड़ों की संख्या जोगी कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता कलेक्टर घेराव के लिए रवाना हुए। जिला प्रशासन की तरफ से एडिश्नल कलेक्टर बी.एस.उइके ने ऋचा जोगी समेत धरमजीत सिंह,सियाराम कौशिक समेत अन्य नेताओं से शिकायत पत्र लिया। आश्वासन दिया कि शिकायत को मुख्यमंत्री तक पहुंचाया जाएगा।
प्रमुख मांग

            एडिश्नल कलेक्टर को मांह और शिकायत पत्र देकर जोगी कांग्रेस नेताओं ने कहा कि 54 हजार किसानों में से मात्र आधे को फसल बीमा राशि दी गयी है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के साथ जिला अस्पताल और सिम्स की हालत खराब है । आवास निर्माण में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। भूमिहीनों को आवास आवंटन से दूर रखा गया है। सालों से सरकारी जमीन पर काबिज लोगों को आवास दिया जाए।

               जनता कांग्रेस नेताओं ने प्रशासन से कहा कि बिलासपुर विश्वविद्यालय और आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय भवन का निर्माण किया जाए। रोकी गयी छात्रवृत्ति का तत्काल भुगतान किया जाए। आउटसोर्सिंग बंद कर युवाओं को रोजगार दिया जाए। हवाई सेवा से बिलासपुर को तत्काल जोड़ा जाए। सड़कों का निर्माण सुरक्षा के अनुकूल हो। अरपा साडा को तत्काल बंद करते हुए व्यवहारिक योजना लाकर अरपा की गरिमा को स्थापित किया जाए। जनता कांग्रेस नेताओं ने सरकारी शराब दुकानों को तत्काल बंद करने समेत 15 सूूत्रीय मांगों को जिला प्रशासन के सामने रखा।
पुलिस की चाक चौबंद व्यवस्था
  जोगी कांग्रेस के कलेक्टर घेराव के मद्देनजर जिला पुलिस प्रशासन का व्यापक सुरक्षा इंतजाम देखा गया। पुलिस कार्यालय के मुक्य प्रवेश द्वार से मुंगेली नाका चौक तक सड़क को पूरी तरह घेर दिया गया। दोनों तरफ से आमरास्ते में टीन की दीवार खड़ी कर दी गयी। जिसके कारण जोगी कांग्रेस के नेता पुलिस और कलेक्टर कार्यालय तक नहीं पहुंच सके। इस दौरान सुरक्षा के लिहाज से आलाधिकारियों के अलावा सैकड़ों जवानों को तैनात किया गया था।
जमकर हुई झूमा झटकी
                 जोगी कांग्रेस नेता और पुलिस जवानों के बीच जमकर झूमाझटकी हुई। पुलिस जवानों ने भीड़ को तीतर बितर करने के लिए हल्का बल का प्रयोग किया। इस दौरान धरमजीत सिंह,ऋचा जोगी,सियाराम, संतोष कौशिक,बृजेश साहू और मणिशंकर पाण्डेय,विक्रांत तिवारी,जीतू ठाकुर,समीर अहमद समेत सभी नेताओं ने पुलिस पर गुंडागर्दी का आरोप लगाया।
                        पुलिस के सख्त रवैया के खिलाफ सियाराम,धरमजीत,ऋचा जोगी समेत सभी बड़े नेता सड़क पर ही धरने बैठ गए। और कलेक्टर को मौके पर बुलाने की मांग करने लगे। इसके बाद जिला प्रशासन की तरफ से एडिश्नल कलेक्टर बी.एस.उइके ने मौके पर पहुंचकर ज्ञापन लिया।
कार्यकर्ताओं के साथ गुंडागर्दी
 धरमजीत सिंह और ऋचा जोगी ने कहा लोकतंत्र में सबको शांति के साथ प्रदर्शन का अधिकार है। लेकिन प्रशानिक तानाशाही के चलते जनता परेशान है। आज प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने कार्यकर्ताओं से मारपीट की है। कई लोगों को गर्दन सिर और पीठ पर चोट पहुंची है। लेकिन जनता कांग्रेस की चेतावनी है कि जनता ने सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प ले लिया है। बहुत दिनो तक पुलिस की ज्यादती नहीं चलने वाली है।
गुंडागर्दी का आरोप बेबुनियाद..सुरक्षा हमारी प्राथमिकता
                 जोगी कांग्रेस के गुंडागर्दी के आरोप को एडिश्नल एसपी नीरज चन्द्राकर ने एक सिरे से इंकार कर दिया। उन्होने बताया कि कलेक्टर क्षेत्र के आस पास धारा 144 लागू है। भीड़ को समझाना बुझाना और कानून का पालन करवाना हमारी प्राथमिकता है। थोड़ी बहुत धक्का मुक्की हुई है । सही अर्थों में धक्का मुक्की ना होकर लोगों को हटने के लिए कहा गया है।
बख्तरबंद जवान तैनात
              कलेक्टर परिसर के आस पास पुलिस के ऐसे जवान भी तैनात दिखाई दिए जिन्होने बुलेट प्रूफ जकैट भी पहना था। ऐसे जवानों की सक्रियता देखने को मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *