मेरा बिलासपुर

जब नाराज ग्रामीणों के बीच पहुंचे SDMकोटा…बातचीत के बाद खोंगसरा ग्रामीणों ने कहा..निभाएंगे संकल्प

बिलासपुर—- धुर आदिवासी क्षेत्र खोंगसरा में कोटा प्रशासन ने मतदाता जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को मतदान के लिए जागरूक किया। कोटा एसडीएम आशुतोष चतुर्वेदी ने ग्रामीणों को मतदान की अहमियत को बताया। साथ ही ग्रामीणों की नाराजगी को दूर भी किया। उपस्थित लोगों को एसडीएम ने कहा नाराजगी को हम महसूस कर रहे हैं। लेकिन मतदान बहिष्कार का फैसला स्वस्थ्य लोकतंत्र  के लिए ना उचित था और ना है। इस दौरान आशुतोष चतुर्वेदी ने लोगों को मतदान का संकल्प भी दिलाया।

आदिवासी बहुल क्षेत्र कोटा ब्लाक के खोंगसरा के ग्रामीणों के बीच एसडीएम पहुंचे। मतदाता जागरूकता अभियान चलाकर लोगो को ज्यादा से ज्यादा मतदान करने को कहा। आशुतोष चतुर्वेदी ने कहा कि मतदान का बहिष्कार स्वस्थ्य लोकतंत्र के लिए कभी भी उचित नहीं है। इस दौरान चतुर्वेदी ने लोगों से व्यापक चर्चा की।

चर्चा के दौरान चतुर्वेदी ने ग्रामीणों की मांगों को गंभीरतापूर्वक सुना। साथ ही उनकी समस्याओं को ना केवल ध्यान दिया। बल्कि जल्द से जल्द  निराकरण का  आश्वासन भी दिया।

बताते चलें कि खोंगसरा के ग्रामीणों ने मतदान का विरोध किया था। जानकारी मिलते ही शनिवार को कोटा एसडीएम आशुतोष चतुर्वेदी खोंगसरा वासियों के बीच पहुंचे। ग्रामीणों की मांग की विस्तार से जानकारी ली। उपस्थित लोगों से चर्चा कर समस्या निराकरण का आश्वासन दिया।

ग्रामीणों से चर्चा के बाद चतुर्वेदी ने जानकारी दी कि उप-तहसील बेलगहना स्थित खोंगसरा के ग्रामीणों ने कई मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा था।  मांग पूरी नहीं होने पर मतदान का बहिष्कार की बात कही थी। चतुर्वेदी ने बताया कि ग्रामीणों से चर्चा हुई है। उनकी मांगों का निराकरण जल्द-जल्द से किया जा रहा है। ग्रामीणों को समझाया गया कि मतदान लोकतंत्र मजबूत करने के लिये सबसे सशक्त माध्यम है। इस दौरान ग्रामीणों को मतदान के महत्व को बताया गया। सभी ग्रामीणों ने मतदान के महत्व पर सहमति व्यक्त की है। मतदान की शपथ लेकर लोकतंत्र को मजबूत करने का फैसला किया है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS