जब भूपेश ने कहा…CM कोई बने ….बहुमत लाकर रहूंगा,…महंत ने कहा राहुल को बनाएंगे PM…विजय ने किया जंग का एलान

  बिलासपुर— बहुत दिनों बाद कांग्रेस कार्यालय में इतनी भीड़ नजर आयी कि कार्यालय में एक भी कुर्सी खाली नहीं दिखाई दी। कांग्रेस कार्यालय के बाहर भी कमोबेश जमकर भीड़ का नजारा देखने को मिला। मौका था विजय केशरवानी के शपथ ग्रहण समारोह का। जिन कांग्रेसियों को कांग्रेस भवन के भीतर खड़े होने की जगह नहीं मिली उन्होने बाहर सड़क पर बने पंडाल के नीचे कुर्सी पर बैठकर और खड़े होकर शपथ ग्रहण और अपने नेता का भाषण सुना। भूपेश बघेल,चरणदास महंत,पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव समेत नव नियुक्त जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी ने अपने भाषण में जंग का एलान किया। भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने की बात कही। नेताओंं ने कांग्रेस में किसी भी प्रकार की गुटबाजी होने से इंकार किया। इस दौरान भूपेश बघेल और चरणदास महंत प्रदेश सरकार पर कमीशनखोरी का आरोप लगाया। इसके पहले पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने जिले के 30 कर्मठ कांग्रेसियों को शाल श्रीफल से सम्मानित किया।

                    अन्दर और बाहर खचाखच कांग्रेसियों के बीच नव नियुक्त कांग्रेस अध्यक्ष ने पीसीसी चीप भूपेश बघेल, पूर्व केन्द्रीय मंत्री चरणदास महंत,महामंत्री अटल श्रीवास्तव,विधायक दिलीप लहरिया,विधायक चुन्नीलाल साहू,शैलेश पाण्डेय,अशोक अग्रवाल,शिवा मिश्रा,बैजनाथ चन्द्राकर,राजेश पाण्डेय समेत सैकडों वरिष्ठ कांग्रेसियों की मौजूदगी में पद का शपथ लिया।  विजय केशरवानी ने निवर्तमान अध्यक्ष का माला पहनाया और राजेन्द्र शुक्ला ने भी विजय केशरवानी को माला पहनाकर स्वागत किया।

                                                             राजेन्द्र शुक्ला ने अपने विदाई भाषण में कहा कि तीन सालों में जो जिम्मेदारी दी गयी। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पूरी ईमानदारी से निभाया। साथियों का भरपूर सहयोग मिला। अटल श्रीवास्तव ने कहा कि आज नरेन्द्र बोलर और विजय केशरवानी ने एक साथ शपथ लिया है। दोनों मिलकर कांग्रेस को मजबूत बनाएंगे। कार्यकर्ताओं के सहयोग से भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकेंगे।

हमें बहुमत लाने की जिम्मेदारी,,सीएम कोई बने।

                  भूपेश ने कहा कि आतिशी स्वागत से अभिभूत हूं। नव नियुक्त अध्यक्ष विजय केशरवानी को बधाई देते हुए राजेन्द्र शुक्ला के लिए भूपेश ने कहा कि निवर्तमान अध्यक्ष पद मुक्त हुए हैं कार्यमुक्त नहीं। कांग्रेस में कोई भी कार्यकर्ता भूतपूर्व नहीं होता। राजेन्द्र को नई जिम्मेदारी दी जाएगी। दिल्ली में दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में सोनिया और राहुल ने संदेश दिया है कि कांग्रेस में नेता नहीं सभी कार्यकर्ता होते हैं। उसी तर्ज पर आज कांग्रेस भवन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यहां भी मंच पर सिर्फ वक्ता ही नजर आया….नेता नहीं। परम्परा का स्वागत करता हूं।

                         भूपेश ने कहा कि राहुल गांधी ने स्पष्ठ संंदेश दिया है कि कार्यकर्ता ही विधानसभा उम्मीदवार निश्चित करेंगे। उन्होने कहा कि सोनिया और राहुल गांधी ने मुझे प्रदेश में बहुमत लाने के लिए जिम्मेदारी दी है। सीएम बनने की नहीं। मैं ऐलान करता हूं कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बहुमत में लाकर रहुंगा।  राहुल और सोनिया जिसे चाहेंगे सीएम भी वहीं बनेगा। भूपेश ने चरणदास महंत का समर्थन करते हुए कहा कि कांग्रेस में गुटबाजी होने का सवाल नहीं है। क्योंकि यहां कार्यकर्ता किसी के साथ हो सकता है लेकिन काम कांग्रेस का ही करता है। नव नियुक्त जिला अध्यक्ष किसी गुट का नहीं बल्कि कांग्रेस का है।

                                       भूपेश ने सवाल जवाब में बताया कि राहुल गांधी ठीक ही कहते हैं कि कांग्रेस का अध्यक्ष कोई तड़ीपार नहीं बल्कि जुझारू कार्यकर्ता ही हो सकता है। उन्होने स्थानीय मंत्री पर भी निशाना साधा। सरकार पर कमीशनखोरी का आरोप लगाते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग का अधिकारी गिरफ्तार होने के बाद बताया है कि मैं घूस का पैसा बंगले भेजता हूं। अब धीरे धीरे मालूम होगा कि किस बंगले में घूस का पैसा जाता है।

दिल का नहीं कार्य का बटवारा..राहुल को पीएम बनाना

                       चरण दास मंहत ने अपने भाषण में कहा कि विजय केशरवानी को अध्यक्ष बनाए जाने पर भूपेश को बधाई देता हूं। लोग कहते हैं कि विजय चरणगुट का है। मैं उसे बहुत पहले से जानता हूं। वह मेरा प्रिय हो सकता है…लेकिन कांग्रेस का जुझारू कार्यकर्ता है। विजय से भी बताना चाहूंगा कि दिल का नहीं केवल कार्य का बंटवारा होना चाहिए। क्योंकि यहां कोई भी व्यक्ति किसी गुट का नहीं है। कांग्रेस का कार्यकर्ता केवल कांग्रेस गुट का है। इस दौरान चरणदास मंहत ने अर्जुन सिंह और दिग्विजय सिंह का भी जिक्र किया। उन्होने कहा सब लोग किसी को आदर्श बना सकते हैं लेकिन सभी को कांग्रेस के लिए काम करना है। कांग्रेस में गुटबाजी का कोई स्थान नहीं है।

                       चरणदास महंत ने कहा कि भूपेश और टीएस बहुत मेहनत कर रहें है। विश्वास है कि इस बार प्रदेश में कांग्रेस की ही सरकार बनेगी। महंत ने स्थानीय मंत्री को युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का भी आरोप लगाया।

तीस कांग्रेसियों का सम्मान और वरिष्ठों का फूल माला से स्वागत

                         शपथ ग्रहण के बाद जिले के तीस कांग्रेसियों का शाल श्रीफल से भूपेश बघेल ने स्वागत किया। बघेल ने सम्मानित होने वाले सभी कांग्रेसियों को उनके योगदान को याद किया। उन्होने कहा कि यदि इसी तरह सहयोग मिलता रहे। सबके सहयोग से भाजपा सरकार को विधानसभा चुनाव में उखाड़ फेंकेंगे।

पद के साथ चुनौती भी मिली

       शपथ लेने के बाद नवनियुक्त जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी ने अध्यक्ष बनाए जाने पर नेताओं का आभार व्यक्ति किया। विजय ने कहा कि मुझे सात विधानसभा का अध्यक्ष बनने का गौरव मिला। इस बात की खुशी है…लेकिन अध्यक्ष पद के साथ मुझे चुनोैती भी मिली है। इस चुनौती को मैं कांग्रेस सिपाहियों के साथ लेते हुए गर्व महसूस करता हूं। मैं समझता हूं कि कांग्रेस का एक एक कार्यकर्ता अध्यक्ष है।मैं सबकी तरफ से जंग का एलान करता हूं। मेरा पहला एलान बिलासपुर विधानसभा से है।

                         कार्यक्रम का संचालन संभागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *