हमार छ्त्तीसगढ़

जशपुर-बगीचा की नेत्रहीन बिटिया ने दिखाया आवाज का जादू

bitiya

रायपुर ।   दूरदर्शन केन्द्र नई दिल्ली द्वारा विशेष आवश्यकता वाले व्यक्तियों (निःशक्त) के लिए आयोजित फिल्मी गानों के कार्यक्रम ‘मेरी आवाज सुनो’ में शासकीय दृष्टि एवं श्रवण बाधितार्थ विद्यालय मठपुरैना की दो छात्राओं सरिता देवांगन और रूपवर्षा केरकेटा का चयन हुआ है। समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू ने गायन के लिए चयनित दोनों बालिकाओं को मंगलवार को  अपने निवास में मुलाकात के दौरान बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। श्रीमती साहू ने बालिकाओं के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें ‘मेरी आवाज सुनों’ कार्यक्रम में जीत हासिल कर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करने के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर बालिकाओं ने श्रीमती साहू को सुमधुर आवाज में गीत भी सुनाया।
समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि दोनों बालिकाओं को ‘मेरी आवाज सुनो’ कार्यक्रम  के आडिशन के लिए आगामी एक नवम्बर को सवेरे साढ़े सात बजे नई दिल्ली स्थित दूरदर्शन भवन टावर-बी, कापरनिकस मार्ग (मंडी हाऊस) में आमंत्रित किया गया है। कक्षा 11वीं में अध्ययनरत सरिता देवांगन और कक्षा 9वीं में अध्ययनरत रूपवर्षा केेरकेटा के मेरी आवाज सुनो कार्यक्रम में ऑडिशन के लिए चयन संबंधी सूचना प्रसार भारती (भारत के सार्वजनिक सेवा प्रसारक) दूरदर्शन केन्द्र नई दिल्ली द्वारा प्रेषित पत्र के माध्यम से प्राप्त हुई है। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि सरिता देवांगन राजधानी रायपुर के शिव विहार कॉलोनी महादेव घाट के निवासी  रामनाथ देवांगन और श्रीमती रजनी देवांगन की पुत्री है, जबकि रूपवर्षा केरकेटा जशपुर जिले के ग्राम बोडा पहाड़ी, पोस्ट-पसिया (बगीचा) के निवासी  अमृत केरकेटा और श्रीमती सुनीता केरकेटा की पुत्री है। ये दोनों बालिकाएं शासकीय दृष्टि एवं श्रवण बाधितार्थ विद्यालय मठपुरैना में पढ़ाई के साथ-साथ खैरागढ़ इंदिरा कला और संगीत विश्वविद्यालय के अंतर्गत संगीत भी सीख रही हैं।

 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS