मेरा बिलासपुर

जागरूकता के लिए करें आत्मावलोकन—एसईसीएल ने किया लौह पुरूष को याद

Vigilance Awareness Week - Closing Dayबिलासपुर—एसईसीएल में आज सतर्कता जागरूकता सप्ताह का समापन हुआ । वसंत विहार स्थित रवीन्द्र भवन में आयोजित समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह के मुख्य अतिथि यू .एस. दत्ता ,  बी.बी. मिश्रा की उल्लेखनीय उपस्थिति रही । अध्यक्षता कम्पनी के निदेशक  ए.पी. पण्डा ने की । निदेशक तकनीकी आर.पी. ठाकुर निदेशकडा. आर.एस. झा, महाप्रबंधक  डी.के. चन्द्राकर प्रमुखता से उपस्थित थे ।

                    कोल इण्डिया गीत के साथ प्रारंभ कार्यक्रम में अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित करने के बाद भारत के प्रथम गृहमंत्री लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल के छायाचित्र पर माल्यार्पण किया । इस अवसर पर मंचस्थ अतिथियों ने पत्रिका ’’स्पंदन’’ का विमोचन किया ।

मुख्य अतिथि  यू.एस. दत्ता ने कहा कि सतर्कता जागरूकता सप्ताह का मूल तत्व सतर्कता के लिए किसी अन्य एजेंसी पर निर्भर नहीं रहें बल्कि स्वयं ही आत्म अवलोकन करें । यह आवश्यक है कि हमारा कार्य सैद्धांतिक तौर पर सही हो । अंत में उन्होंने सतर्कता जागरूकता सप्ताह के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी ।

निदेशक ए.पी. पण्डा ने अध्यक्षीय संबोधन में उपस्थित लोगों से आव्हान करते हुए कहा कि समस्त अधिकारी-कर्मचारी अपने कार्यालयीन कार्य में नियमों का पालन करते हुए अपने कार्य में तेजी लाएं। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि यदि हम निर्धारित नियम-कानूनों का पालन करते हुए कार्य करेंगे तो स्वमेव हमारे कार्य में तेजी आएगी ।

निदेशक तकनीकी आर.पी. ठाकुर ने कहा सतर्कता जागरूकता सप्ताह के दौरान प्रचारित किए गए सिद्धांतों को हम अपने जीवन में आत्मसात करेंगे तभी सतर्कता जागरूकता सप्ताह की सार्थकता सिद्ध होगी । अंत में उन्होंने सतर्कता जागरूकता सप्ताह के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजयी प्रतिभागियों को बधाई देते हुए समस्त प्रतिभागियों को भविष्य के लिए शुभकामनाएंदी ।

हाईकोर्टः डायरेक्टर वेटनरी हाजिर हों

निदेशक डा. आर.एस. झा ने कहा कि सतर्कता जागरूकता सप्ताह का यह आयोजन हमें नियम-कानून से अवगत कराता है, साथ ही सुचारू व्यवस्था से कार्य सम्पादन हेतु प्रेरित करता है ।
कार्यक्रम के प्रारंभ में महाप्रबंधक डी.के. चन्द्राकर ने स्वागत उद्बोधन के साथ प्रतिवेदन प्रस्तुत किया । कार्यक्रम के दौरान सप्ताह पर्यन्त आयोजित वाद-विवाद, निबंध तथा चित्रकारी प्रतियोगिता के विजेता कर्मियों, विभिन्न स्कूल-काॅलेजों के विद्यार्थियों को मंचस्थ अतिथियों के करकमलों से पुरस्कृत किया गया ।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS