जिला चिकित्सालय में विशेषज्ञ स्त्री रोग विशेष, निःश्चेतना विशेषज्ञ के रिक्त पदों पर होगी भर्ती

कबीरधाम।कलेक्टर एवं अध्यक्ष जीवनदीप कार्यकारिणी समिति रमेश कुमार शर्मा की अध्यक्षता में जिला चिकित्सालय के सभा-कक्ष में समिति के पदाधिकारियों, सदस्यों की उपस्थिती में जीवन दीप कार्यकारिणी समिति की बैठक हुई। बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुसार और वन परिवहन मंत्री तथा कवर्धा विधायक मोहम्म्द अकबर, जिला प्रभारी मंत्री अनिला भेड़िया के निर्देशानुसार जिला चिकित्सालय कबीरधाम में मरीजों की सुविधाओं के विस्तार के लिए जीवनदीप, एन.एच.एम, अन्य मदों से स्त्री रोग विशेष, निःश्चेतना विशेषज्ञ रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने के लिए चर्चा की गई। उल्लेखनीय है कि जिले के प्रभारी मंत्री और वन मंत्री तथा कवर्धा विधायक अकबर की उपस्थिति में जिला खनिज न्यास संस्थान के वार्षिक कार्ययोजना के अनुमोदन के लिए बैठक हुई थी। बैठक में जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए विशेषज्ञ चिकित्सकों की भर्ती और स्कूलों में वैकल्पिक शिक्षकों की भर्ती करने के लिए कार्ययोजना का अनुमोदन किया गया था।CGWALL NEWS के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा के अध्यक्षता में आयोजित जीवनदीप समिति के बैठक में मंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों के तहत एन.एच.एम, अन्य मदों से स्त्री रोग विशेष, निःश्चेतना विशेषज्ञ रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया पर कार्य करने के लिए निर्देशित किया गया। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री विजय दयाराम के., सिविल सर्जन डॉ. सुजाय मुखर्जी एवं जीवन दीप समिति के कार्यकारिणी सदस्य श्री राजेश माखीजानी, अंकित शर्मा, गनपत गुप्ता एवं संबंधिक अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने बैठक की एजेण्डावार चर्चा करते हुए चिकित्सालय में जल की समस्या को दूर करने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को आवश्यक कार्यवाही के लिए निर्देशित किया। कलेक्टर श्री शर्मा ने मुख्यमंत्री अस्पताल उन्नयन कोष मद से स्वीकृत 50 हजार लीटर उच्च स्तरीय पानी टंकी सब वेल सहित निर्माण कार्य के लिए प्रथम किस्त की राशि 6 लाख 62 हजार 800 रूपए जारी किए जाने के बाद भी काम शुरू नहीं होने पर आवश्यक जानकारी ली।

 बैठक में बताया गया कि बायोमेडिकल इंजीनियर मेडिसिटी हेल्थकेयर प्रायवेट लिमिटेड द्वारा बायोमेडिकल इक्यूपमेंट का प्रिवेंटिव मेंटेनेंस व केलीब्रेशन के दौरान विद्युत सुरक्षा परीक्षण करने पर पाया गया कि जिला चिकित्सालय कबीरधाम के विभिन्न स्थानों में मेजर ओ.टी, प्रसूति कक्ष, माईनर ओ.टी., एस.एन.सी.यू., ब्लड बैंक एवं अन्य स्थानों में विद्युत अर्थिंग अवरोध होने के कारण विद्युत सप्लाई व्यवस्था में समस्या उत्पन्न हो रही है। इसलिए प्रिवेंटिव मेंटेनेंस केलीब्रेशन बायोमेडिकल इक्यूपमेंट के सुचारू रूप से संचालन के लिए विद्युत अर्थिंग सुधार कार्य के लिए लोक निर्माण विभाग विद्युत एवं यांत्रिकी द्वारा प्रस्तुत प्राक्कलन पर चर्चा की गई। साधारण सभा में पारित निर्णय अनुसार 4 लाख 44 हजार रूपये जारी कर आंतरिक विद्युत व्यवस्था सुधार कार्य लोक निर्माण विभाग विद्युत एवं यांत्रिकी जिला कबीरधाम के द्वारा करवाया गया है।

      कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने जिला चिकित्सालय परिसर में पर्याप्त रूप से रौशनी व्यवस्था के लिए पोल शिफ्टिंग एवं नये पोल लगाये जाने का कार्य छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मण्ड कबीरधाम द्वारा किया जा रहा है जिसमें स्ट्रीट लाईट लगाये जाने की व्यवस्था नगर पालिका परिषद द्वारा किया जाना प्रस्तावित है। चिकित्सालय परिसर में पर्याप्त रूप से रौशनी व्यवस्था हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कबीरधाम के द्वारा मार्गदर्शन दिया कि परिसर में लाईट की व्यवस्था हेतु स्ट्रीट सोलर लाईट लगाये जाने का कार्य क्रेडा विभाग जिला कबीरधाम द्वारा कराये जाने निर्देशित किया गया।

स्व. सुधादेवी सिंह स्मृति धर्मशाला का लोकार्पण अक्टूबर 2009 में किया गया था, वहां के खिड़की, दरवाजे व शौचालय आदि जर्जर हो चुकने के कारण व धर्मशाला निर्माण से आज दिनांक तक मरम्मत, सुधार कार्य नहीं कराये जाने के कारण भर्ती मरीज के परिजनों के ठहरने हेतु धर्मशाला के मरम्मत एवं सुधार कराये जाने की आवश्यकता है। स्व. सुधादेवी सिंह स्मृति धर्मशाला के जर्जर हो चुके खिड़की, दरवाजे व शौचालय आदि के मरम्मत एवं सुधार कार्य हेतु निर्णय पारित किया गया। अनुमानित लागत राशि 40 लाख रूपये  स्व. सुधादेवी सिंह स्मृति धर्मशाला के बाहर परिजनों, अन्य हितग्राहियों के बैठने हेतु विद्युत व्यवस्था सहित 20 ग 20 शेड निर्माण पर चर्चा। वर्तमान में जहां दुपहिया पार्किंग है वहां बैठक शेड बनाये जाने हेतु सर्व सम्मति से निर्णय पारित किया गया। अनुमानित लागत राशि 1 लाख 50 हजार रूपये।

चिकित्सालय प्रवेश द्वार से केवल एंबुलेंस को प्रवेश कराये जाने एवं स्टाफ व अन्य हितग्राहियों के दोपहिया व चारपहिये वाहन का प्रवेश स्व. सुधादेवी सिंह स्मृति धर्मशाला के बगलवाले गेट से कराये जाने हेतु काउ कैचर एवं पक्का रास्ता (पेव्ड पाथवे) बनवाये जाने पर चर्चा।चिकित्सालय में भर्ती मरीज के परिजनों, अन्य हितग्राहियों के उपयोग करने हेतु शुलभ शौचालय में महिला एवं पुरूष हेतु एक ही प्रवेश द्वार है, जिसमें परिवर्तन कर दो अलग-अलग द्वारा की व्यवस्था एवं टाईल्स मरम्मत तथा प्लंबिंग इत्यादि कार्य कराये जाने हेतु चर्चा की गई। लोक निर्माण विभाग जिला कबीरधाम द्वारा प्राक्कलन को जिला पंचायत कबीरधाम के मद से कार्य कराये जाने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जि.पं. कबीरधाम द्वारा सहमति दी गई। पोस्टमार्टम सेंटर में सिंगल बॉडी वाला दो नग फ्रीजर खरीदने के लिए प्रस्ताव पारित किया गया।

जिला चिकित्सालय परिसर में कायाकल्प के लिए भी आवश्यक चर्चा की गई। बैठक में बताया गया कि कायाकल्प के तहत बगीचे, गार्डन उन्नयन के लिए अनुमति प्रदान की गई है। मुख्य मंत्री के निर्देशानुसार 6 जुलाई को वृक्षारोपण किया जाना है जिसमें जिला चिकित्सालय में 200 नग पौधा रोपण किया जाना है। गार्डन की देख रेख करने हेतु अर्धकालिक माली की व्यवस्था किये जाने निर्णय लिया गया। चिकित्सालय में शासन द्वारा प्रदत्त राशि से 10 स्थानों पर सेंट्रल एनाउंसमेंट सिस्टम लगाये गये है, 6 अन्य स्थानों पर लगाया जाना प्रस्तावित है जिसकी अनुमानित लागत राशि 18 हजार रूपये है। मरीजों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां निरंतर प्रदान करने हेतु 6 अन्य स्थानों पर अनाउंसमेंट सिस्टम लगाने निर्णय पारित किया गया।

बैठक में लोक निर्माण विभाग के अधिकारी द्वारा बताया गया कि जिला चिकित्सालय कबीरधाम के पुरूष चिकित्सक कक्ष के रेनोवेशन कार्य के लिए सीजीएमएससी के द्वारा प्रस्तुत प्राक्कलन 1 लाख 71 हजार 200 रूपये के आधार पर मार्च 2019 में 85 हजार 600 रूपये अग्रिम राशि जारी की गई थी, जिसके लिए कार्य आदेश निरस्त कर दिया गया है और लोक निर्माण विभाग को क्रियान्वयन एजेंसी बनाया गया है। अग्रिम राशि वापस करने के लिए सीजीएमएससी को पत्र प्रेषित किया गया है किंतु राशि अप्राप्त है।

उक्त कार्य हेतु लोकनिर्माण विभाग को सी.जी.एम.एस.सी. द्वारा प्रस्तुत प्राक्कलन के आधार पर एवं राशि प्राप्त होने की प्रत्याशा में कार्य प्रारंभ करने एवं जीवन दीप समिति द्वारा अनुमोदन पश्चात राशि 1 लाख 71 हजार 200 रूपये जारी करने संबंधी चर्चा की गई। सीजीएमएससी द्वारा विभिन्न कारणों से कार्य पूर्ण नहीं कर पाने के कारण लोकनिर्माण विभाग को एक माह के अंदर कार्य पूर्ण करने निर्देशित किया गया। बैठक में मुख्यचिकित्सा कार्यलय में पदस्थ स्वीपर सुमीत डग्गर स्वीपर को कार्य मुक्त कर पूर्ण कालिक जिला चिकित्सालय कबीरधाम में कार्य संपादन हेतु आदेशित करने निर्णय पारित किया गया। जीवन दीप समिति अंतर्गत कार्यरत अधिकार, कर्मचारियों की पूर्व में कभी सेवा वृद्धि की प्रक्रिया नहीं होने के कारण सेवा अवधि वृद्धि किये जाने पर चर्चा की गई। कार्य आंकलन के आधार पर जीवन दीप समिति अंतर्गत कार्यरत कर्मचारियों की सेवा वृद्धि किये जाने निर्णय पारित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *