मेरा बिलासपुर

शहर में एबीव्हीपी का दबदबा..कांग्रेस को फिर मिली हार.

received_10203395919177791बिलासपुर—अरपांचल को छोड़कर शहर के अन्य कालेजों में एनएसयूआई और एबीव्हीपी के बीच जमकर संघर्ष देखने को मिला। कहीं एनएसयूआई ने बाजी मारी तो कहीं एपीव्हीपी ने एकतरफा जीत हासिल किया। एसबीआर कालेज में शैलेन्द्र गुट को एबीव्हीपी  संगठन ने करारी शिकस्त दी है। लम्बे समय बाद एसबीआर के छात्रों ने नाफरमानी करते हुए शैलेन्द्र यादव के खिलाफ वोटिंग कर धमक को खत्म किया।

                       डीपी महाविद्यालय में एनएसयूआई की एकतरफा जीत हुई। सीएमडी में कड़ी टक्कर के बीच सह सचिव पद को छोड़कर एबीव्हीपी ने अध्यक्ष उपाध्यक्ष और सचिव पद को अपने कब्जे में किया। दीपक अग्रवाल को जीत बड़ी मुश्किल से हासिल हुई। एनएसयूआई ने आरोप लगाया है छात्र संघ चुनाव में सत्ता पक्ष ने जनबल और धनबल से चुनाव को प्रभावित किया है। एनएसयूआई की माने तो दीपक अग्रवाल को जिताने में प्रशासन ने पावर गेम का सहारा लिया है। बहरहाल इन तमाम बातों के बीच शहर के सभी कालेजों में छात्र संघ चुनाव में कांग्रेस को करारी हार मिली है।

                                  देर रात तक बिलासपुर शहर में जगह जगह से फटाके और ठोल ताशे की आवाज सुनाई दी। छात्र संघ चुनाव में दिलचस्पी रखने वालों की नजर दिन भर सीएमडी कालेज पर थी। शाम सात बजे के बाद एबीव्हीपी ने कांटे के टक्कर में सीएमडी को फतह कर लिया। रिकाउन्टिग के बाद एबीव्हीपी प्रत्याशी दीपक अग्रवाल को एनएसयूआई अध्यक्ष प्रत्याशी पर तीन वोट से जीत हासिल हुई। उपाध्यक्ष और सचिव का पद एबीव्हीपी के खाते में गया। नियम में नहीं होने के कारण उपाध्यक्ष और सचिव पदों के लिए डाले गए वोटों की रिकाउन्टिग नहीं हुई। सह सचिव को  पर एनएसयूआई के जतिन केशरी ने हासिल किया।

बच्चों के साथ दुष्कर्म के दोषी को मिले सजा-ए-मौत..... महिला आयोग की सिफारिश....हर्षिता को सोशल मीडिया में व्यापक समर्थन

                   एसबीआर कालेज में जीत एबीव्हीपी की हुई। पूर्व छात्र नेता शैलेन्द्र गुट को जोरदार झटका लगा है। उनके सभी उम्मीदवारों को छात्रों ने एक सिरे से इंकार कर दिया है। शैलेन्द्र की हार से मैनेजमेंट ने भी राहत की सांस ली होगी। अरपा पार साइंस कालेज में उपाध्यक्ष को छोड़कर सभी पदों पर एबीव्हीपी ने कब्जा किया है।  पिछली बार यहां सभी पदों पर एबीव्हीपी का कब्जा था। डीपी विप्र कालेज में एक बार फिर शेट्टी बंधुओं की रणनीति कामयाब हुई। एनएसयूआई सभी पदों पर अपने उम्मीदवार को जिताने में कामयाब रहा।

सीएमडी कालेज—एबीव्हीपी..अध्यक्ष-दीपक अग्रवाल, उपाध्यक्ष– ऋषभ, सचिव—शालिनी जय सिंहानी,सह-सचिव-जतिन केशरी(एनएसयूआई)

डीपी महाविद्यालय—एनएसयूआई—अध्यक्ष-युपेश कुमार,उपाध्यक्ष—कोमल पाशी,सचिव-कल्याणी सिंह,सह-सचिव-रूपेन्द्र सिंह

एसबीआर कालेजएबीव्हीपी–अध्यक्ष—गौरी गुप्ता, उपाध्यक्ष-शीतल सिंगाड़े सचिव–,विजय,सह-सचिव-राम बहादुर राठौर

डीपी विप्र विधि महाविद्यालय-एबीव्हीपी..अध्यक्ष-फाऱूख आलम ,उपाध्यक्ष– अभिजीत ठाकुर,सचिव– मधु वैश्य, सह-सचिव– सागर सोनी । सभी निर्विरोध

नाइसटेक कालेजएबीव्हीपी समर्थित–अध्यक्ष– दीपाली मानिकपुरी,उपाध्यक्ष– अविनाश डाहिरे, सचिव– दिलेश्वर भारद्वाज, सह सचिव—चन्द्र प्रकाश खांडे।

सीएसआर महाविद्यालय कोटा—पीपरतराईअध्यक्ष-सूर्यकांत साहू, उपाध्यक्ष-विनोद जांगड़े,सचिव- सृष्टि पाटकर,सह-सचिव-मान सिंह नवरंग

शासकीय जे.एम.पी.महाविद्यालय तखतपुरएनएसयूआई अध्यक्ष—मनीषा देवांगन, उपाध्यक्ष-शैलेन्द्र आहूजा, सचिव—शैलेन्द्र जांगड़े,,

मदनलाल शुक्ल महाविद्यालय सीपतएबीव्हीपी अध्यक्ष–युपेश कुमार, उपाध्यक्ष—कोमल पाशी,सचिव-कल्याणी सिंह,सह-सचिव-रूपेन्द्र सिंह(एनएसयूआई)

गौरेला माविद्यालयएनएसयूआईअध्यक्ष—कुमारी आशा सिंह,उपाध्यक्ष—सत्तु सिंह,.सचिव-आफरीन,सह-सचिव..कुमारी बबीता

मरवाही महाविद्यालय- एबीव्हीपीअध्यक्ष–कुमारी शालू गुप्ता उपाध्यक्ष--अजय कुमार, सचिव–दुर्गेश प्रसाद

लापरवाही करने वाले पटवारियों को जारी होगा नोटिस

पेन्ड्रा महाविद्यालय—अध्यक्ष–हेमन्त बाघे, उपाध्यक्ष--वीरेन्द्र रघुवंशी,सचिव–कृतिका शुक्ल सह-सचिव-सुनयना चक्रधारी

रतनपुर महाविद्यालय— एनएसयूआई का अध्यक्ष और सचिव पद पर कब्जा, उपाध्यक्ष और सहसचिव पर एबीव्हीपी काबिज

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS