जोगी निधनः अमर, अरूण, विधायक ने कहा..प्रदेश ने खोया स्वप्नदृष्टा..सुशांत की जुबानी..जूदेव का बयान…जोगी की बात ही अलग

बिलासपुर—- छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत प्रमोद जोगी अब इस दुनिया में नहीं रहे। समाजार के बाद पूरा देश स्तब्ध है। कुशल प्रशासक..बहुमुंखी प्रतिभा के धनी अजीत जोगी ने रायपुर में एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान अंतिम सांस ली। जानकारी के बाद छत्तीसगढ समेत देश के बड़े बड़े राजनेताओं ने श्रद्धांजलि दी है।कांग्रेस नेता और बिलासपुर नगर विधायक शैलेष पाण्डेय ने पूर्व मुख्यमंत्री के निधन गहरा शोक जाहिर किया है। उन्होने अपने संदेश में कहा कि जोगी जी से पुराना परिचय रहा है। उनसे बार बार मिलना हुआ । लंबी बातें भी हुईं।  मुझसे बहुत स्नेह करते थे। उनका हमेशा ऋणी रहूंगा। जोगी छत्तीसगढ़ राजनीति के हमेशा केन्द्र में रहे।उनकी आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूंथ ईश्वर से प्रार्थना करता हू परिवार को इस गहरे दुख से उभरने की शक्ति प्रदान करे। और आत्मा को श्रीचरणों में स्थान दें।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये
 
वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल
 
          पूर्व नगरीय निकाय मंत्री भाजपा के वरिष्ठ नेता अमर अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी  का निधन पूरे प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति  है। इलाज के दौरान दूसरी बार कार्डियक अरेस्ट आने से  छत्तीसगढ़ ने अपने लोकप्रिय नेता और कद्दावर नेता,श्रेष्ठ प्रशासक और उच्च कोटि के विद्वान को हमेशा के लिए खो दिया। राजनीति में आने के पहले  आईएएस और आईपीएस के लिए चुने गए थे। विधायक और सांसद भी चुने गए। छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद 1 नवंबर 2000 को  प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बने। उनके नेतृत्व में ही प्रदेश के विकास और  लोक कल्याणकारी योजनाओ की रूपरेखा तय की गयी।  छत्तीसगढ और छत्तीसगढ़िया  के हितों की रक्षा के लिए  सदैव तत्पर रहते थे। गांव ,गरीब , किसानों के दुलारे नेता थे। बिलासपुर उनका गृह जिला रहा है। बिलासपुर के विकास को लेकर विशेषकर लालायित रहते थे। सदैव मुखर होकर सार्वजनिक विषयो पर टिप्पणियों करते थे। आम लोगो का मार्गदर्शन करते थे। उनका योगदान छत्तीसगढ़ की राजनीति में सदैव अविस्मरणीय रहेगा।
 
सांसद–अरूण साव
       
      बिलासपुर लोकसभा सांसद अरूण साव ने  जोगी के निधन पर गहरी संवेदना जाहिर की है। अरूण साव ने कहा जोगी सफल और कुशल प्रशासक थे। राजनीति में काफी प्रभावशाली व्यक्तित्व रहा। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री,कुशल प्रशासक, कुशल राजनेता अजीत जोगी के निधन से स्तब्ध हूँ। उनका निधन छत्तीसगढ़ के लिए अपूर्णीय क्षति है। ईश्वर से प्रार्थना है कि उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें। परिजन एवं शुभचिंतकों को इअसीम दुख को सहने की शक्ति भी प्रदान करें। सांसद ने बताया कि जोगी ने छत्तीसगढ़ के विकास के लिए बुनियाद रखा। वह जननेता थे।
 
 
 
भाजपा नेता सुशांत शुक्ला
भाजपा नेता सुशांत शुक्ला ने कहा कि जब समाजिक जीवन के एक राजनैतिक कार्यकर्ता के रुप काम प्रांरभ किया।  तब से एक व्यक्तित्व की क्षमता,प्रबंधन,वाकतृत्व कला और जीवटता ने बहुत प्रभावित रहा।  उनका नाम था  अजीत प्रमोद जोगी। जिनके मार्गदर्शन में राजनैतिक तौर पर पोषित और पल्लवित हुआ । ऐसे कुमार दिलीप सिंह देव भी दलीय प्रतिद्वंद्विता के बावजूद अक्सर कहते थे की  जोगी जी की बात ही अलग है विरले व्यक्तित्व के धनी है। एक समय ऐसा भी आया जब बिलासपुर लोकसभा 2009 का चुनाव हुया। आपने सामने जूदेव और रेणु जोगी थीं। नोक छोक,वाद विवाद के दौर भी आए। मैं उनकी जिवटता का क़ायल रहा। अदभुत व्यक्तित्व-शारीरिक कमजोरी को कभी हावी नहीं होने दिया। बौद्धिक क्षमता से जोगी ने सबको प्रभावित किया। छत्तीसगढ ही नहीं वरन भारत के राजनैतिक क्षितिज में जोगी जैसे प्रशासनिक और राजनैतिक समझ वाले नेता की कमी हमेशा खलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *