मेरा बिलासपुर

जोगी ही नहीं कोटा भी मेरा परिवार..ढाई साल से संगठन ने किया परेशान…रेणु जोगी ने कहा…जीवन भर मानूंगी अहसान

बिलासपुर— जनता कांग्रेस में एक दिन पहले शामिल होने का दावा करने वाली कांग्रेस की पूर्व नेत्री और कोटा विधायक रेणु जोगी ने नामांंकन दाखिल किया। पत्रकारों से बातचीत के दौरान रेँणु जोगी काफी मायूस और भावुक नजर आयी। उन्होने कहा कि ईश्वर जैसा चाहता है वहीं होता है। फिर भी मै अच्छा महसूस नहीं कर रही हूं। रेणु जोगी ने इस दौरान जाहिर करने का प्रयास भी किया कि वह कांग्रेस से अलग हटकर चुनाव लड़ना चाहती। लेकिन जनता के दबाव और उनके प्यार ने जनता कांंग्रेस से चुनाव लड़ने के लिए मजबूर किया। बातचीत के दौरान रेणु जोगी ने सोनिया गांधी को लिखे पत्र में संगठन का उनके और परिवार के साथ की गयी गतिविधियों का भी जिक्र किया।

                अन्ततः डॉ. रेणु जोगी ने जनता कांंग्रेस की टिकट पर कोटा से नामांकन दाखिल कर ही दिया। नाामांकन दाखिल करने के बाद पत्रकारों और समर्थकों के सामने रेणु जोगी काफी भावुक नजर आयीं। पत्रकारों के सवालों का जवाव संयम के साथ दिया। लेकिन कांग्रेस नेताओं की उनके और जोगी परिवार के खिलाफ की गतिविधियों का जिक्र करना भी नहीं भूलीं।

              रेणु जोगी ने बताया कि यह सच है कि मैने सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। कांग्रेस और गांधी परिवार से 35-40 सालोंं का संबध  है। मन में असमंजस की स्थिति है। परिस्थिति,भगवान और कोटा जनता का आदेश को शिरोधार्य कर जनता कांग्रेस की टिकट पर क्षेत्रवासियों से आशीर्वाद लेने जाउंगी।  रेणु जोगी ने बताया कि पिछले ढाई साल से परिवार के विरोध के बादजूद कांग्रेस पार्टी के साथ थी। ईश्वर की इच्छा थी कि मैं परिवार के साथ रहूंं। उसी आदेश का पालन कर रही हूं।

विनोद तिवारी को जनता कांग्रेस ने कहा विषैला सांप....प्रवक्ता ने बताया...किसी भी पार्टी और विचार का नहीं होगा सगा

              आपने कहा था कि कांग्रेस से टिकट नहीं मिलेगी तो राजनीति छोड़ घर बैठेंगी…फिर अब क्या कर रही हैं। रेणु जोगी ने बताया कि मैने व्यथित होकर अपनी भावनाओं को व्यक्त की थी। जैसा की मैने कहा कि मेरा परिवार जोगी के साथ कोटा विधानसभा क्षेत्र भी है। परिवार के साथ रहना मेरी जिम्मेदारी और मजबूरी दोनों है। इसलिए काफी विचार विमर्श के बाद अंतिम दिन नामांकन दाखिल किया।

                             ऐसी कौन सी परिस्थितियां थी कि टिकट कट गयी…रेणु जोगी ने बताया कि प्रदेश कांंग्रेस अध्यक्ष चुनाव चयन समिति के अध्यक्ष और केन्द्रीय चुनाव समिति के साथ हमारे पार्टी के अध्यक्ष ने सोच समझकर टिकट काटने का फैसला लिया होगा। रेणु जोगी ने बताया कि कांग्रेस पार्टी छत्तीसगढ़ में अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। शायद विभोर सिंह हमसे ज्यादा काबिल होंगे। मैं कांग्रेस पार्टी के निर्णय को स्वीकार करता हूं।

           अापने पत्र में प्रदेश संगठन पर जोगी परिवार को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। रेणु जोगी ने कहा कि बिना जानकारी के मुझे विधायक दल के उपनेता पद से हटाया गया। विधायक दल की बैठक में कभी नहीं बुलाया गया। इसके अलावा बहुत सी बातें हैं जो हमेशा मेरे लिए कौतुहल का विषय रहीं। लेकिन उसका जवाब अब मुझे मिल गया है।

              अंत में रेणु जोगी ने बताया कि पार्टी नें मुझे बहुत कुछ दिया…जीवन भर अहसान मंद रहूंगी।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS