झीरम घाटीः सर्चिंग के दौरान हुई चूक

JHEERAM_GHATI_VISUAL 001बिलासपुर–झीरम घाटी में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा में के दौरान हुए हमले को लेकर आज जांच आयोग के सामने प्रतिपरीक्षण हुआ। बस्तर के तात्कालीन एसपी मयंक श्रीवास्तव ने स्वीकार किया कि दरभा ग्राम के पास नक्सलियों ने कांग्रेस नेताओं को निशाना बनाया इसकी सूचना उन्हे थी। इसके बाद एक टीम सर्चिग के लिए गयी। लेकिन घटना स्थल तक नहीं पहुचीयी। आस-पास के इलाको की सर्चिंग जरूर हुई।

                        बिलासपुर हाईकोर्ट भवन के विशेष जांच आयोग के सामन आज झीरमघाटी मामले में सुनवाई हुई। 25 मई 2013 में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा रैली पर नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया था। कांग्रेस के तत्कालीन कई बड़े नेताओं समेत 27 लोग मारे गए थे। मामले बस्तर के तत्कालीन एसपी मयंक श्रीवास्तव का आज प्रतिपरीक्षण किया गया।

                              कांग्रेस की ओर से अधिवक्ता सुदीप श्रीवास्तव ने प्रति परिक्षण के दौरान जानना चाहा कि क्या पुलिस को मिलने वाली सूचनाओ और असूचनाओ का रिकार्ड रखा जाता है या उन पर किस तरह अमल किया जाता है। सवाल के जवाब में एसपी मंयक श्रीवास्तव ने गोल मोल जवाब देने का प्रयास किया।जस्टीश प्रंशात मिश्रा ने पूछा कि क्या नक्सली बिलासपुर में रहे और पुलिस चकरभाठा की सर्चिग कर वापस हो जाए यह कहना सही है। इसके बाद भी एसपी अपना पक्ष रखते रहे।

                                  अधिवक्ता सुदीप श्रीवास्तव ने तत्कालीन एसपी से जानना चाहा कि पुलिस की स्पेशल ब्रांच को जब कोई गुप्त सूचना मिलती है तो क्या उसका रिकार्ड रखा जाता है। आईपीएस मयंक श्रीवास्तव ने बताया कि इस तरह का कोई रिकार्ड नहीं रखा जाता । जब भी नक्सली मूवमेंट की कोई गोपनीय सूचना मिलती है उस इलाके में पुलिस पार्टी भेजकर इलाके की सर्चिंग कराई जाती है।

                 श्रीवास्तव ने बताया कि घटना के दिन दरभा और जगदलपुर के बीच कुछ स्थानों पर नक्सलियों के जमा होने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर पुलिस की पार्टी गयी थी। मंयक ने माना की झीरम में नक्सली मुवमेंट कांगेर घाटी और कांगेर नाले के पास से होने की जानकारी थी। लेकिन पुलिस की सर्चिंग पार्टी वहा तक नहीं पहुंची। पार्टी आस-पास के गांवो को सर्च कर वापस आ गयी। जिस जगह पर कांग्रेस के काफिले पर हमला हुआ उस स्थान की सर्चिंग नहीं की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *