मेरा बिलासपुर

झूमाझटकी के बाद समझौता…

24 pankaj ji 15बिलासपुर—- सत्ताइस खोली क्षेत्र में आज निगम के अतिक्रण दस्ते को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। निगम कमिश्नर आदेश के बाद जब टीम सत्ताइस खोली क्षेत्र में सड़क किनारे अतिक्रण हटाने पहुंची तो स्थानीय निवासियों ने जमकर विरोध किया।

                 सत्ताइस खोली क्षेत्र में आज निगम के अतिक्रमण दस्ते को भारी विरोध का सामना करना पड़ा । उग्र भीड़ को देखने के बाद बाद निगम ने सुरक्षा के लिए पुलिस को तैनात कर लिया। बावजूद इसके प्रभावित लोगों के साथ ही अन्य लोग ने जेसीबी के सामने खड़े हो गये। स्थानीय पार्षद ने भी अतिक्रमण अभियान का विरोध करते हुए निगम को वापस जाने की मांग की ।

                       स्थानीय पार्षद अखिलेश चन्द्र वाजपेयी ने बताया कि निगम ने अतिक्रमण अभियान के पहले ना तो नोटिस दिया और ना ही किसी प्रकार की कार्यवाही की जानकारी ही दी है। उन्होंने बताया कि यहां 40 साल से लोग गुमटी लगा रहे हैं। इतने साल बाद निगम की कार्रवाई समझ से परे है। वाजपेयी ने बताया कि निगम ने खुद ही गुमटी और स्थान दिया है। दो गुमटियां ऐसी हैं जिन्होंने बिना अनुमति के स्थान घेरा है उनके खिलाफ कार्रवाई उचित है। लेकिन सभी को हटाने का हम विरोध करते हैं। हम अतिक्रमण का विरोध नहीं कर रहे हैं। लेकिन अनुचित कार्रवाई का जरूर विरोध करेंगे।

                     अतिक्रमण दस्ता प्रभारी राजकुमार मिश्रा ने बताया कि निगम आयुक्त के आदेश पर अतिक्रमण करने वालों को हटाया जा रहा है। जिन्हें परमिशन है उन्हें छोड़कर सड़क घेरने वाले सभी को हटाया जाएगा। राजकुमार ने बताया कि आगे की कार्रवाई निगम के आदेश के बाद ही होगी। दो गुमटियां हटाई गयी हैं। जांच पड़ताल के बाद अन्य लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। यदि वह जमीन पर बलात कब्ज किये हैं तो। इस दौरान जमकर झूमाझटकी भी हुई बाद में समझौता के बाद अतिक्रमण दस्ता वापस हो गया।

संस्कृति से समाज और परिवार को मिलती है मजबूती-अमर

                         अभियान के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल उपस्थित था। इस मौके पर एडिशनल एसपी प्रशांत कतलम,सीएसपी लखन पटले और सिविल लाइन थाना प्रभारी नसर सिद्धिकी भी उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS