मेरा बिलासपुर

टीएल बैठक में बरसे कलेक्टर.. सकते में अधिकारी

collector dwara Tl baithak (1)बिलासपुर—सभी जिलाधिकारी क्षेत्र का सतत् भ्रमण कर अपने विभागीय योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करायें। इससे मैदानी अमले में भी सक्रियता आयेगी। कलेक्टर अन्बलगन पी ने आज साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में सभी जिला अधिकारियों को उक्त निर्देश दिए। कलेक्टर ने बिना अनुमति महिला एवं बाल विकास विभाग गौरेला में पदस्थ पर्यवेक्षक पुष्पा कौशिक को कोटा में अटैच करने पर गहरी नाराजगी जताई। उन्होंने इसके लिए जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी किस्सपोट्टा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि बिना अनुमति किसी भी कर्मचारी को अटैच न किया जाये।
कलेक्टर ने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभागीय प्रशिक्षण पर मितव्ययिता बरतें। उन्होंने प्रशिक्षण हेतु कौशल विकास योजना के तहत् राशि उपलब्ध कराने की बात कही। कलेक्टर ने विभिन्न मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए जिले के दूर-दराज बैगा बाहुल्य क्षेत्रों का सतत् निगरानी रखने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये।

                                        कलेक्टर ने   कोटा क्षेत्र के भनवारटंक के पास मंदिरों के लिए ग्रामीणों के मांग अनुसार ट्रस्ट बनाने और  मंदिर के आसपास अवैध कब्जा को हटाने के निर्देश दिए। अन्बलगन ने विभिन्न निर्माण कार्यों में तेजी लाने के साथ ही विभागों में लंबित प्रकरणों को समय पर निपटारा करने के लिए भी निर्देशित किया। उन्होंने न्यायालयीन प्रकरणों में भी समय पर जवाबदावा प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इसके अलावा जनदर्शन में प्राप्त आवेदनों एवं वरिष्ठ कार्यालयों से प्राप्त पत्रों पर भी समय पर कार्यवाही करने का निर्देश दिया है।

                     बैठक में अपर कलेक्टर  नीलकण्ठ टेकाम,  निर्मल तिग्गा, जे.पी.मौर्य, जिला पंचायत सीईओ नरेन्द्र सर्वेश्वर भूरे, निगम आयुक्त रानू साहू सहित सभी एसडीएम और विभिन्न विभाग के जिला अधिकारी उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS