टोनही के आरोप पर महिला का अनशन…बताया ससुराल वालों ने घर से निकाला…बेटे को मिल रही जान से मारने की धमकी

बिलासपुर— महिला अपने पति सास श्वसुर और ननद देवर के खिलाफ धरना प्रदर्शन पर बैठी है। महिला का आरोप है कि ससुराल वालों ने उसे बेटे के साथ घर से निकाल दिया है। मायका से लेकर ससुराल तक डायन और टोनही का ताना दिया जाता है। जीना मुश्किल हो गया है। ना घर है और ना ही पेट भरने की व्यवस्था यदि उसे और बेटे को न्याय नहीं मिला तो जान दे दूंगी। अनशन पर बैठी महिला ने बताया कि पिछले एक साल से प्रताड़ित किया जा रहा है। मामले में पुलिस कप्तान और जिला कलेक्टर से भी गुहार लगा चुकी है।

                  कशिश माखिला ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर नेहरू चौक पर आमरण अनशन कर रही है। कशिश ने बताया कि पिछले एक साल से ससुराल वालों ने जीना मुश्किल कर दिया है। डायन कहकर बुलाते हैं। ससुराल वालों का आरोप है कि मैं जाटू टोना करती हूं। व्यापार विहार स्थित दुकान में जादू टोना किया है जिसके चलते दुकान नहीं चल रही है।

                   बेटा प्रिंस के साथ नेहरू चौक पर आमरण अनशन पर बेठी कशिश ने बताया कि ससुराल वालों ने घर से निकाल दिया है। शादी के बाद से उसे ससुराल वाले परेशान कर रहे हैं। पिछले एक साल से तो घर वालों ने जीना मुश्किल कर दिया है। घर से निकाले जाने और डायन को लेकर कलेक्टर और एसपी से भी गुहार लगा चुकी है। लेकिन उसे अभी तक न्याय नहीं मिला है।

                       महिला ने बताया कि टोनही और डायन के आरोप के बाद समाज में जीना मुश्किल हो गया है। ससुराल वाले मेरे बेटे प्रिंस का अहरण करवाना चाहते हैं। जान से मारने की धमकी भी देते हैं। कशिश ने बताया कि सामाजिक न्याय के लिए आमरण अनशन मेरा अन्तिम प्रयास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *