डेंगू की जांच के लिए बिलासपुर जिला अस्पताल में भी एलिजा किट ,6 घंटे में मिल जाएगी रिपोर्ट, कलेक्टर ने ली मीटिंग

बिलासपुर।कलेक्टर पी दयानंद ने  डेंगू की रोकथाम और सावधानी के लिये स्वास्थ्य अधिकारियों और निजी नर्सिंग होम संचालकों की बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने सभी नर्सिंग होम संचालकों को निर्देश दिये कि डेंगू की जांच हेतु लिये गये सैंपल को जिला अस्पताल भी भेजें। जिससे गलती की कोई गुंजाईश न रहे। डेंगू के पीड़ित मरीजों को भुगतान हेतु अनावश्यक परेशान ना किया जाए। जैसे ही पता चले कि किसी मरीज को डेंगू है उसका सबसे पहले इलाज शुरु करें। मरीज से इलाज के पैसों के लिये यदि इलाज में लापरवाही बरती गई तो संबंधित पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्टर ने सभी नर्सिंग होम संचालकों को प्रतिदिन डेंगू से संबंधित रिपोर्ट जिला अस्पताल को भेजने के निर्देश दिये। डेंगू से बचाव हेतु जागरूकता के लिये सभी अस्पताल संचालकों को अपने अस्पताल के बाहर बैनर और होर्डिंग्स लगाने के निर्देश दिये।

बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी बी बी बोर्डे ने बताया कि डेंगू की जांच के लिये एलिजा किट जिला अस्पताल में उपलब्ध है। जांच रिपोर्ट 6 घंटे के अंदर मरीज को मिल जाती है। इसके अलावा सभी सरकारी अस्पतालों में डेंगू के इलाज की निशुल्क व्यवस्था है।

दयानंद ने जिले के नागरिकों से अपील की है कि घरों के आसपास, अंदर, गार्डन में, कूलर में पानी जमा ना होने दें। जमा होने वाले पानी को प्रतिदिन साफ करें। डेंगू के मच्छर पानी के स्त्रोतों में जैसे नालियों, गड्ढों, पुराने टायर और ऐसे ही अन्य वस्तुओं में जहां पानी ठहरता हो वहां पैदा होते हैं। यदि संभव हो तो खिड़कियों व दरवाजों पर जाली लगाकर मच्छरों को घर में आने से रोकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *