डेटा लीक मामला:कांग्रेस की रविशंकर को चुनौती,सबूत हो तो करा दे FIR

रायपुर।फेसबुक डेटा लीक मामले का खुलासा करने वाले और कैंब्रिज एनालिटिका के पूर्व कर्मचारी क्रिस्टोफर विली के कांग्रेस का नाम लिए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) राहुल गांधी पर हमलावर हो गई है।विली के बयान के बाद बीजेपी ने जहां कांग्रेस से माफी की मांग की है, वहीं कांग्रेस ने पलटवार करते हुए पूरे मामले में एफआईआर दर्ज करने की चुनौती देते हुए जांच की मांग की है।

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, ‘रविशंकर प्रसाद झूठे है, वह सत्ता में हैं, तो क्यों नहीं सारे सबूत दिखा देते हैं और एफआईआर दर्ज करा दे। हम चुनौती देते हैं। उनको डर है कि अगज जांच शुरू हुई तो वह बेनकाब हो जाएंगे।’केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘आज क्रिस्टोफर विली ने यह बात साबित कर दिया है कि कैंब्रिज एनलाटिका ने कांग्रेस के लिए काम किया। इसने राहुल गांधी को बेनकाब कर दिया है, जो अभी तक आरोपों से मुकरते रहे हैं।

कांग्रेस और राहुल गांधी को इस मामले में माफी मांगनी चाहिए, जो अभी तक मामले को गुमराह करने की कोशिश करते रहे हैं।’ प्रसाद ने कहा, ‘हम शुरू से यह कहते रहे हैं और यह (क्रिस्टोफर विली का बयान) इसकी पुष्टि करता है।’

कांग्रेस ने जवाबी पलटवार करते हुए कहा, बीजेपी ने 2014 में इस कंपनी की सेवाएं ली थीं।  सुरजेवाला ने कहा, ‘जबकि सच यह है कि ‘2014 के चुनाव में बीजेपी कैंब्रिज एनालिटिका की क्लाइंट थी।  इसके अलावा पार्टी ने कहा कि 2010 में जद-यू और भाजपा ने इस फर्म की सेवाएं लीं।’

विली ने ब्रिटिश संसद की डिजिटल, कल्चर, मीडिया एंड स्पोर्ट्स कमेटी के सामने बयान देते हुए कहा, ‘मैं मानता हूं कि कांग्रेस कंपनी की क्लाइंट थी। लेकिन जहां तक मुझे पता है कि उन्होंने (कंपनी) सभी तरह के प्रोजेक्ट किए। रीजनल और नैशनल, लेकिन मुझे सिर्फ रीजनल प्रोजेक्ट के बारे में पता है।’प्रसाद ने कहा, ‘कैंब्रिज एनालिटिका के ब्रह्मास्त्र का इस्तेमाल करते हुए भारत के चुनावी प्रक्रिया को गुमराह करने के लिए राहुल गांधी को देश से माफी मांगनी चाहिए। देश को इस मामले में जवाब चाहिए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *