मेरा बिलासपुर

डॉ.बुधिया होंगी मोर का पालक….

IMG-20150609-WA0006बिलासपुर— कानन मिनी जू के एक मोर को डॉ.रश्मि बुधिया ने गोद लेकर वन विभाग को 11 हजार रूपए नगद भुगतान किया। डॉ.रश्मि बुधिया ने आज कानन स्थित भारतीय मोर के केज के सामने केक काटकर अपना जन्मदिन भी मनाया। मालूम हो कि इसके पहले भी रश्मि बुधिया ने 16 नवम्बर 2014 को अपने पुत्र का जन्मदिन टायग्रेस के केज के सामने केट काटकर मनाया था। उन्होंने आशा को गोद लेते हुए कानन पेण्डारी को अठारह हजार रूपए चेक से भुगतान किया था।

                     स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ.रश्मि बुधिया ने आज अपना जन्मदिन कानन पेण्डारी में मनाया। इस मौके पर उनके पिता पति और पुत्र तीनो ही साथ में थे। डॉ.रश्मि ने भारतीय मोर के पिंजड़े सामने जन्मदिन का केट काटा। उपस्थित वनमण्डलाधिकारी एस.पी.मसीह.एसडीओ एच.बी.खान,कानन पेण्डारी के रेंजर टी.आर.जायसवल समेत सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को केक खिलाया। इस मौके पर डॉ.बुधिया ने भारतीय मोर को गोद भी लिया। नियमानुसार उन्होंने दस हजार का एक चेक कानन प्रबंधन को दिया। डॉ.बुधिया एक साल तक मोर का पालक रहेंगी।

             वन प्रशासन के नियमानुसार यदि कोई कानन पेण्डारी के किसी जीव को गोद लेना चाहता है तो उसके लिए कुछ शुल्क का भुगतान करना होता है। केज के सामने उस जीव के पालक का नाम अंकित किया जाता है। इसके पहले भी डॉ.बुधिया ने 16 नवम्बर 14 को टायग्रेस आशा को गोद लिया था। आज उन्होंने अपने जन्म दिन पर एक मोर को गोद लिया है। इस मौके पर वन विभाग के सभी अधिकारी मौजूद थे। वन मण्डलाधिकारी मसीह ने रश्मि बुधिया के सहृदयता पर खुशी जाहिर करते हुए प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। इस मौके पर रश्मि बुधिया से जुड़े वन्य जीव प्रेंमी अभिषेक विधानी,रूपेश कुकरेजा, विवेक कोटवानी, अविनाश आहुजा, अंकिता आहुजा, और प्रतीक्षा पाण्डेय के अलावा वन अमला विशेष रूप से उपस्थित था।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS