हमार छ्त्तीसगढ़

ड्रायविंग लाइसेंस अब होंगे इलेक्ट्रानिक बेस्ड स्मार्टकार्ड

munatरायपुर। परिवहन मंत्री राजेश मूणत की अध्यक्षता में सोमवार को मंत्रालय (महानदी भवन) में परिवहन विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। परिवहन कार्यालयों के पंजीकरण प्रमाण-पत्रों एवं लायसेंस की डिजीटाईजेशन की कार्यवाही की जानी है। इसके लिए प्राइवेट वाहनों के पुराने लायसेंस को स्मार्टकार्ड में परिवर्तित करना है।  उन्होंने कहा कि मूल लायसेंस के खो जाने पर पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के पश्चात ही डुप्लीकेट लायसेंस जारी किया जाएगा, इससे डुप्लीकेट लायसेंस बनाने की पंरपरा पर रोक लगाई जा सकेगी। ड्रायविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट की स्थापना नया रायपुर स्थित तेंदूआ ग्राम में किया जाएगा। इस परियोजना के लिए सभी आवश्यक प्रक्रिया पूर्ण करने समय सीमा निर्धारित की गई। इसी प्रकार रायपुर के सिटी संेटर पंडरी में परिवहन सेवा केन्द्र की स्थापना के लिए  और छत्तीसगढ़ मंे रायपुर स्थित परिवहन कार्यालय, परिसर में मोटरयान निरीक्षण एवं प्रमाणन केन्द्र खोलने के लिए भी समय सीमा तय की गई।

                                       श्री मूणत ने कहा कि ड्रायविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट की स्थापना हो जाने से विभागों में वाहन चालकों की भर्ती की प्रक्रिया के लिए ड्रायविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट का प्रमाण-पत्र अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करना होगा। इसी प्रकार आटो रिक्शा, ट्रक, मेटोडोर, मिनी बस, बस, सहित भारी वाहन चालकों को भी वाहन चलाने के लिए ड्रायविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट का प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। इसके लिए सभी और ड्रायविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट का प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करने के लिए समय दिया जाएगा। परिवहन विभाग के अधिकारी ने बताया कि ड्रायविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट की स्थापना का निर्माण कार्य लोक निर्माण विभाग के माध्यम से कराया जाएगा और तकनीकी कार्य मारूति सुजुकी इंडिया के माध्यम से कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि ड्रायविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट की स्थापना के लिए मारूति सुजुकी इंडिया के साथ राज्य सरकार का एमओयू शीघ्र ही किया जाएगा।

                                  munat2 भारत सरकार द्वारा प्रदेश में मोटरयान निरीक्षण एवं प्रमाणन केन्द्र की स्थापना के लिए सलाहकार नियुक्त किया जाएगा। इसके लिए भारत सरकार ने छत्तीसगढ़ के लिए आई केट (गुड़गांव) कंपनी को एजेंसी बनाया है। मोटरयान निरीक्षण एवं प्रमाणन केन्द्र की स्थापना के लिए केन्द्र सरकार के द्वारा 14.40 करोड़ रूपए उपलब्ध कराए गए हैं। आई केट (गुड़गांव) कंपनी के साथ राज्य सरकार द्वारा एमओयू शीघ्र ही किया जाएगा। मोटरयान निरीक्षण एवं प्रमाणन केन्द्र की स्थापना का कार्य लोक निर्माण विभाग द्वारा कराया जाएगा एवं और तकनीकी कार्य आई केट (गुड़गांव) कंपनी के माध्यम से कराया जाएगा।

क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए सामाजिक क्रांति का नवीन सूत्रपात हुआ-अजय चंद्राकर

                                श्री मूणत ने परिवहन विभाग के अधिकारियों को अत्याधुनिक एकीकृत जॉच चौकी की स्थापना के लिए विशेषज्ञ की नियुक्ति कर कार्यवाही की प्रक्रिया पूर्ण करने का निर्देश दिया। अत्याधुनिक एकीकृत जॉच चौकी पहले पाटेकोहरा, खंभारपाली, शंख, चिल्पी और धनुहार में प्रारंभ की जाएगी। बैठक में प्रमुख सचिव परिवहन बी.व्ही.आर.सुब्रमण्यम, सचिव अरूणदेव गौतम, अतिरिक्त परिवहन आयुक्त ओ.पी.पाल, छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम के प्रबंध संचालक डॉ. रोहित यादव सहित परिवहन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS