मेरा बिलासपुर

तालाब के मेढ़ पर मिली नवजात बच्ची की हालत गंभीर

childबिलासपुर—-मस्तुरी थाना क्षेत्र से तालाब के मेढ़ पर मिली नवजात बच्ची की हालत काफी गंभीर है। बच्ची की हालत काफी नाजुक बताई जा रही है। सिम्स के शिशु रोग विशेषज्ञ के अनुसार बच्ची का संक्रमण के गिरफ्त में है। इसलिए उसके बारे में कम से कम 72 घंटे बाद ही कुछ बताया जा सकता है।

                            मस्तूरी थाना क्षेत्र के किसान परसदा में तालाब की मेंड़ पर नवजात बच्ची के मिलने से इलाके में सनसनी फैल गयी। किसी महिला ने दूधमुही बच्ची को  कपड़े में लपेटकर छोड़ दिया था। बच्ची की रोने की आवाज सुनकर तालाब में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। लेकिन किसी ने पुलिस को सूचना नहीं दी। करीब तीन बजे  किसान परसदा के मन्नू नवजात बच्ची को उठा कर अपने घर ले गया। मामले की जानकारी लगते ही सरपंच ने पुलिस को सूचना दी।

                            पुलिस ने नवजात को मस्तूरी के सामूदायिक भवन में भर्ती कराया। बच्ची की गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टरो ने सिम्स रिफर कर दिया। सिम्स के डॉक्टर अजय कोसम ने बताया कि बच्ची का वजन बहुत कम है। वह काफी कमजोर भी है। शायद उसका जन्म सातवें या आठवें महीने में हुआ है। बच्ची के हाथ मे ड्राफ लगा हुआ है इससे जाहिर होता है कि उसका जन्म किसी अस्पताल में हुआ है। बहरहाल उसकी स्थिति काफी नाजकु बनी हुई है।

                       कोसम ने बताया कि तालाब के मेढ़ पर मिलने से बच्ची का शरीर संक्रमण का शिकार हो गया है। संक्रमण को देखते हुए बच्ची कितनी सुरक्षित है बताना मुश्किल है। डॉक्टर कोसम के अनुसार बच्ची दो या तीन दिन की है।

दो लाख की साड़ी ले उड़े चोर...कैमरे में कैद हुई हलचल

                            पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बच्ची की फोटो मस्तूरी क्षेत्र के सभी संभावित नर्सिंंग होम को भेज दिया गया है। बच्ची के अभिभावक का पता जल्द ही लगा लिया जाएगा। थाना प्रभारी मस्तूरी ने बताया कि जब तक बच्ची के माता पिता की जानकारी नहीं लगती है तब तक हम किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सकते कि आखिर बच्ची को लावारिश हालत में क्यों तालाब के मेढ़ पर छोड़ा गया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS