तीन दिवसीय ताला महोत्सव का समापन…कांग्रेस नेता ने कहा…तेजी से होगा भगवान रूद्र की धरती का विकास

बिलासपुर— बिल्हा विधानसभा स्थित ऐतिहासिक गांव ताला में भगवान रूद्रशिव  मंदिर प्रांगण में आयोजित तीन दिवसीय ताला महोत्सव का समापन मंगलवार को हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश कांग्रेस संयुक्त महामंत्री राजेन्द्र शुक्ला और अध्यक्षता नरेश मंगल विशेष रूप से मौजूद थे।  विशिष्ट अतिथि के रूप जिला पंचायत सदस्य ममता मनहरण कौशिक ,ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष विनोद दिवाकर ने भी कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान ग्राम सरपंच और  कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौजूद थे।
                  बिल्हा विधानसभा स्थित तीन दिवसीय ताला महोत्सव का मंंगलवार को समापन हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजेन्द्र शुक्ला समेत सभी अतिथियों का श्री सिद्धनाथ सेवा आश्रम समिति अध्यक्ष बजरंग गोश्वामी,  उपाध्यक्ष, सचिव, सभी सदस्यगणों ने बाजे गाजे के साथ पुष्पहार से स्वागत किया। राजेन्द्र शुक्ला ने अन्य मेहमानों ने भगवान श्री रूद्रशिव और भगवान श्री सिद्धनाथ महादेव की पूजा कर क्षेत्र की खुशहाली की कामना की।
            कार्यक्रम में मंचासीन अतिथियों ने माँ सरस्वती के छायाचित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्जवलित कर आशीर्वाद मांगा। इस दौरान मंचासीन सभी अतितियों ने अपनी बातों को आम जनता के सामने रखा।
                      राजेन्द्र शुक्ला ने जय जवान जय किसान के नारे के साथ कार्यक्रम में सफल बनाने वालों को बधाई दी। राजेन्द्र ने कहा कि ताला महोत्सव का शुभारंभ प्रदेश के मुखिया भुपेश बघेल ने किया। हमने सभी की बातों को उनके सामने गंभीरता के साथ रखा। मुख्यमंत्री ने सभी की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए ताला को पर्यटक स्थल घोषित करने की मांग को स्वीकार किया है। राजेन्द्र ने बताया कि तालावासियों के बीच  5 वीं सदी की विरासत मौजूद है। इसे सहेजकर रखने की जरूरत है। भगवान रुद्रशिव यहां विरजमान हैं। निश्चित रूप से हमारे लिए सौभाग्य की बात है।
                                                   शुक्ला ने बताया कि पर्यटन स्थल घोषित होने से ताला की महक देश विदेश तक पहुंचेगी। ताला का तेजी से विकास होगा। इसका फायदा ना केवल स्थानीय लोगों को बल्कि प्रदेश को भी होगा। इस समय प्रदेश की कमान छत्तीसगढ़ियों के हाथ में है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरकार बनते ही चंद घंटो में किसानों का कर्ज माफ कर दिया। धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपये प्रति क्विंटल कर दिया। मुखिया ने एलान किया है छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा,गरुवा,घुरवा और बारी को बचाना है। हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि विरासत को बचाते हुए सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर प्रदेश को खुशहाल बनाना है।
                 समापन कार्यक्रम के दौरान राजेन्द्र शुक्ला समेत सभी अतिथियों का श्रीफल, शॉल और स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में राजेन्द्र शुक्ला के अलावा जिला महामंत्री ब्रजेश दुबे, मनहरण कौशिक,दगौरी सरपंच बिन्दा निषाद, गुरुबचन सिंह बग्गा,मुन्ना कौशिक,प्रकाश बिंदल,हरदीप सलूजा, राजेश साहू, मनहरण ध्रुव,गोविन्द शुक्ला,हीरा यादव,सुदेश गोश्वामी,मनीष खोब्रागडे,संजय कौशिक,विष्णु धनकर भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *