मेरा बिलासपुर

दाना पानी के लिए किसान मोहताज ..राजेन्द्र

IMG_20151121_131213बिलासपुर– किसान न्याय यात्रा की सफलता से भारी उत्साहित बिलासपुर जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला ने आज प्रेस वार्ता में बताया कि किसान के सामने मरने जीने की नौबत है बावजूद इसके प्रदेश सरकार संवेदनशील नहीं है। मरवाही में नदी नाले तालाब,बावड़ियां सूख गयी हैं। किसान और मजूदर दाने दाने को मोहताज हैं। लेकिन अभी तक बड़बोले भाजपा सरकार की राहत कार्य शुरू नहीं हुआ है। अभी तक जिले में चौदह किसान सूखा और भूख की मार से मर चुके हैं। लेकिन प्रदेश सरकार की आंख नहीं खुली है। राजेन्द्र ने बताया कि सरकार रोजगार देने की बात तो दूर अभी तक किसानों को बीमा राशि और मनरेगा मजदूर को पुरानी मजदूरी भी नहीं दी है।

                             मरवाही यात्रा समापन के बाद आज जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष ने पत्रवार्ता में बताया कि मरवाही में किसान दाने दाने को मोहताज हैं। पिछले 35 साल में इतना भीषण आकाल पेन्ड्रा में नहीं पड़ा है। पशु पानी के लिए किसान दाने को मोहताज है। लोग जान जोखिम में रखकर दूर दराज जंगल में पानी लेने के लिए भटक रहे हैं। जहां जानवारों से उन्हें हमेशा खतरा बना रहता है। राजेन्द्र शुक्ला ने एक सवाल के जवाब में बताया कि मनरेगा में दो सौ दिन का रोजगार दिये जाने की बात तो दूर अभी तक राहत काम भी शुरू नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि किसान और ग्रामीणों के अनुसार उन्हें अभी मनरेगा की पिछली मजदूरी ही नहीं मिली है।

           राजेन्द्र शुक्ला के अनुसार किसान न्याय पदयात्रा के दौरान किसानों ने बताया कि प्रदेश सरकार ने 275 रूपए की दर से पिछले तीन साल का बोनस ही नहीं दिया है। अभी दो साल से तीन सौ रूपए बोनस का इंतजार है। यदि सरकार उन्हें बोनस ही दे देती है तो राहत मिल जाती। अकाल से हम लोग धीरे धीरे कर निपट लेंगे। राजेनद्ग शुक्ला ने बताया कि न्याय यात्रा में किसानों का उन्हें जमकर समर्थन मिला। चाहे कोटा ब्लाक हो या फिर बेलतरा मस्तूरी और बिल्हा ही क्यों ना हो। मरवाही में किसान खून के आंसू रो रहे हैं। मरवाही पेन्ड्रा गौरेला के किसानों ने बताया कि उनसे बिना पूछे फसल बीमा राशि को काटा गया। जब फसल बर्बाद हो चुकी है तो उन्हें अभी तक बीमा की राशि का भुगतान क्यों नहीं किया गया।

जन्मदिन पर किसानों को किया सम्मानित

                            मरवाही में जोगी परिवार से समर्थन मिलने के प्रश्न पर राजेन्द्र शुक्ला ने बताया कि सिर्फ जोगी ही नहीं बल्कि उनकी यात्रा को पूरे संगठन का सहयोग मिला है। मरवाही में कोटा विधायक भी उपस्थित थीं। पूर्व मुख्यमंत्री जोगी ने किसान यात्रा का समर्थन किया है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री चरण दास महंत के अलावा पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष सिंहदेव ने यात्रा को सरकार को आइना दिखाने वाला काम कहा है।

                                       राजेन्द्र शुक्ला ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि हम चिल्लाते ही नहीं बल्कि आइना भी दिखाते हैं। मरवाही समेत बिलासपुर जिले के सभी विधानसभा में किसानों मजदूरों की क्या हालत है सरकार के सामने रख दिया है। इसके बाद भी यदि सरकार की आंख नहीं खुली तो तीन साल बाद जनता उनकी आंख खोलने को तैयार बैठी है।

               राजेन्द्र शुक्ला ने बताया कि अकाल सबको दिखाई दे रहा है। किसान परेशान जीवन और मौत के बीच झूल रहा है। सरकार के खजाने में उद्योगपतियों के लिए तीन हजार करोड़ रूपए लुटाने के लिए हैं। लेकिन किसानों के लिए कोष खाली है। कोष को भरने के लिए सरकार ने भीषण अकाल के बीच कर्ज वसूली का फरमान जारी किया है। इस भय से अभी तक जिले में 14 किसानों ने मौत को गले लगा लिया है। उन्होने बताया कि बिल्हा विधानसभा में पदयात्रा के बाद सभी आंकड़े पीसीसी अध्यक्ष को सौंप दिया जाएगा। इसके बाद जो भी रणनीति तैयार होगी उसके अनुसार काम किया जाएगा।

                    पत्रवार्ता संभागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय ने भी अपने विचार रखे। इस दौरान निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन, महामंत्री पंकज सिंह,अजय सिंह शहर कांग्रेस अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर विशेष रूप से उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS