हमार छ्त्तीसगढ़

दिनकर केशव भाकरे का निधन

bhakhreji
रायपुर। वरिष्ठ पत्रकार , बिलासपुर के प्रथम प्रभात दैनिक लोकस्वर के संपादक रहे , सक्रिय व्यक्तित्व के धनी दिनकर केशव भाकरे का  लंबी बीमारी के पश्चात शनिवार को  प्रात: निधन हो गया। वे लगभग 83 वर्ष के थे। मुख्यमंत्री ने उनके निवास स्थल जाकर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि भाकरे जी का जीवन राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित रहा। उन्होंने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से प्राप्त शिक्षा को आत्मसात करते हुए भारत माता के गौरव के लिए कार्य किया। तत्कालीन मध्यप्रदेश तथा अब छत्तीसगढ़ प्रमुख रूप से उनकी कर्म भूमि रही। उन्होंने एक पत्रकार के रूप में लंबे समय तक दैनिक युगधर्म तथा तरूण भारत में अपनी सेवाएं दी। 
कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय में स्थापित दीनदयाल मानव अध्ययन शोध पीठ के वे अध्यक्ष रहे। स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य भी रहे। माईक्रो फाईनेंस के क्षेत्र में संगवारी नामक संस्था के माध्यम से हजारों वंचित लोगों को आर्थिक सहायता पहुंचाने के कार्य को अंजाम तक पहुंचाने में भाकरे जी का प्रमुख योगदान रहा। 
आज राजेन्द्रनगर श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया। इसमें विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, राष्ट्रीय मंत्री रामविचार नेताम, प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक प्रदेश महामंत्री संगठन रामप्रताप सिंह, मंत्रीगण, बृजमोहन अग्रवाल, महेश गागड़ा, विधायकगण श्रीचंद सुंदरानी, देवजी पटेल, सच्चिदानंद उपासने, संजय श्रीवास्तव, डॉ. राजेन्द्र दुबे, मोहन पवार, रमेश नैय्यर, डॉ. पूर्णेदु सक्सेना और समाज के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। बिलासपुर प्रेस जगत ने भी उन्हे अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। बिलासपुर प्रेसस क्लब अध्यक्ष शशि कोन्हेर ने कहा कि बिलासपुर में लोकस्वर के सम्पादक रहते हुए उन्होने नए पत्रकारों का मार्गदर्शन किया था । जो अविस्मरणीय है।
18 अक्टूबर संध्या 4 बजे स्वदेशी कार्यालय शांतिनगर  में श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई है। 
 
———-

लोकसभा चुनाव-ड्यूटी में लापरवाही, कलेक्टर ने 2 कर्मचारियों को किया निलंबित
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS