मेरा बिलासपुर

दिन भर चला मूर्ती परीक्षण का दौर… कई लोगों पर कार्रवाई

IMG-20150916-WA0003बिलासपुर— नगर निगम और पुलिस की संयुक्त कार्रवाही में आज गणेश मूर्ती बनाने वाले कलाकारों और दुकानदारी करने वालों  में आज दिन भर दहशत का आलम था। दोपहर बाद से दिन भर चले संयुक्त टीम की कार्यवाही के दौरान मूर्ती बेचने वालों की सांसे उल्टी सीधी चलती रहीं। आज की कार्रवाई में कई दुकानों पर टीम ने धावा बोला। एक दर्जन से अधिक लोगों को प्लास्टर आफ पेरिस की मूर्तियों के पकड़ा भी गया। टीम ने प्लास्ट आफ पेरिस से बनी मूर्तियों को अपने कब्जे में लिया।

               नगर निगम और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में प्लास्टर आफ पेरिस और  मिट्टी की गणेश प्रतिमा बेचने वालों का दिन आज ठीक से नहीं गुजरा। संयुक्त टीम ने कम्पनी गार्डन से लेकर तोरवा जगमल चौक तक मूर्ति परख अभियान चलाया। इस दौरान संयुक्त टीम प्लास्टर आफ पेरिस की मूर्तियों के शक होने पर पानी में डूबाकर परीक्षण किया। कई जगह तो शक सही साबित हुआ तो कई जगह मूर्तियां मिट्टी की होने के कारण गल गयी। इस दौरान टीम को दुकानदारों के विरोध का भी सामना करना पड़ा। कई लोगों ने इस अभियान को साम्प्रदायिक रूप भी देने का प्रयास किया। इस दौरान टीम ने प्रतिबंधित केमिकल रंग के प्रयोग करने वालो पर भी कार्रवाई की है।

                        व्यापारियों ने बताया कि भगवान की मूर्ती को इस तरह से परखना ठीक नही हैं। बावजूद इसके ऐसा किया गया। यह प्रक्रिया ठीक नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि हम उसी मूर्ती का पानी में डूबाकर परीक्षण कर रहे हैं जिस पर हमें शक होता है कि इसका निर्माण  प्लास्टर आफ पेरिस से हुआ है। उन्होने बताय कि हम लोग प्रतिबंधित रंगो पर नजर बनाकर रखे हुए हैं।

CG-बारिश के आसार,इन इलाको में छाए बादल

                             बहरहाल संयुक्त टीम की इस कार्रवाई से नगर के  व्यापारियों में जमकर हड़कम्प देखने को मिला। अधिकारियों को  शक है कि प्लास्टर की मूर्तियां कई लोगों ने छिपा दिया है। सूचना मिलने या फिर जरूरत पड़ने पर एक बार सघन जांच अभियान चलाया जाएगा। आदेश को नहीं मानने वालों पर जुर्माना भी लगाया जाएगा। संयुक्त टीम को आज दिन भर में एक दर्जन से अधिक जगह प्लास्टर आफ पेरिस की मूर्तियां मिली हैं।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS