भारत रत्न अटल ने बिछाया सड़कों का जाल…बेनी

IMG-20161226-WA0061बिलासपुर—अटल बिहारी वाजपेयी देश के उन चुनिंदा नेताओं में शुमार हैं जिन्हें पक्ष और विपक्ष में समान रूप से लोकप्रियता हासिल है। उन्हें भारतीय राजनीति का अजात शत्रु कहा जाता है। भाजपा अल्पसंख्यक और किसान मोर्चा के कार्यक्रम में भाजपा संवाद प्रमुख बेनी गुप्ता ने कही। बेनी ने कहा कि ऐसी लोकप्रियता आज तक भारतीय राजनीति में बहुत ही कम लोगों को नसीब हुई। वे सबको साथ लेकर चलने वाले नेताओं में गिने जाते रहे हैं।

                                                                                   विद्यानगर स्थित इंदिरा काॅलोनी में अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए भाजपा प्रदेश संवाद प्रमुख बेनी गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में अटल विहारी ने पांच वर्षो में जितने भी कार्य किये अपने आप में एक कीर्तिमान है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना आरंभ कर भारत के ग्रामीण अंचलों को शहर से जोड़ने का काम अटल ने ही किया। आजादी के बाद गांव को शहरों से जोड़ने की सबसे बड़ी योजना साबित हुई। शहर से जुड़ते ही देश के सभी गांव का विकास की मुख्य धारा में शामिल हो गए। स्वर्णिम चतुर्भुज और एक्सप्रेस वे अटल बिहारी वाजपेयी कार्यकाल की सबसे बड़ी उपलब्धि है। देश ही नहीं बल्कि दुनिया ने भी इस योजना को सराहा है।

                                                              सभा को संबोधित करते हुये मंडल अध्यक्ष धीरेन्द्र केशरवानी ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र संघ में अटल ने हिन्दी में भाषण देकर देश का मान बढ़ाया। मंडल जोन प्रभारी महेश चंद्रिकापुरे ने कहा कि देश सेवा में अटल ने अपना जीवन समर्पित किया। वे अच्छे पत्रकार के साथ अच्छे कवि और अच्छे राजनेता रहे हैं। एक राजनेता का आदर्श जीवन कैसा होना चाहिए अटल बिहारी वाजपेयी इसके सबसे बड़े उदाहरण हैं।

                      मंडल महामंत्री प्रबीर सेन ने कहा कि भारत रत्न अटल विहारी वाजपेयी ने परमाणु विस्फोट कर अमेरिका समेत दुनिया के सभी देशों को चौंका दिया। किसी भी विदेशी एजेंसी को इसकी भनक तक नही लगी। विस्फोट के बाद संयुक्त राष्ट्र संघ ने भारत पर आर्थिक प्रतिबंध लगाया। लेकिन अटल जी विचलित नहीं हुए। अंत में संयुक्त राष्ट्र को आर्थिक प्रतिबंध के निर्णय को वापिस लेना पड़ा।
                     सभा को युसूफरजा बरकाती, डिम्पल सिंह, केदार खत्री ने भी संबोधित किया। सभी नेताओं ने कहा कि अटल के प्रयासों से ही छत्तीसगढ़ का गठन हुआ और बिलासपुर को जोन मिला। वक्ताओं ने कहा कि अटल का बिलासपुर से आत्मीय संबंध था। विपक्ष के नेता रहने के साथ ही प्रधानमंत्री के रूप में भी उनका आगमन कई बार बिलासपुर हुआ। इस मौके पर उपस्थित लोगों ने कहा कि अटल जी दीर्घायु जीवन की कामना करते हैं। इस मौके पर केक काटकर सभी ने एक दूसरे को बधाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *