देश में हर कहीं सरकार किसान विरोधीः योगेन्द्र

 yogendra 1  

            रायपुर   ( वैभव शिव पाण्डेय ) ।   स्वराज अभियान के संयोजक और आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता योगेन्द्र यादव ने दिल्ली के केजरीवाल सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने केजरीवाल सरकार को चरित्रहीन नेताओं का समर्थक बताया। उन्होंने आप के विधायक सोमनाथ भारती और जितेन्द्र तोमर को चरित्रहीन नेता कहा । योगेन्द्र यादव ने केजरीवाल सरकार पर विज्ञापन में खर्च किए गए 5 सौ करोड़ से अधिक की राशि को सरकारी पैसे की बर्बादी बताया। इतना ही नहीं  उन्होंने यह भी कहा कि केजरीवाल सरकार के कुछ कार्य बेहद आपत्तिजनक रहें ।  वहीं उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय चुनाव में आम आदमी पार्टी ने की हरकते शर्मनाक रहीं । योगेन्द्र यादव ने ये तमामे छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय प्रवास में रायपुर में प्रत्रकारों से चर्चा के दौरान कहीं। 

देश में किसान आंदोलन की सुबुगहाट 
            देश को आज किसान आंदोलन की जरूरत है ।और इसकी सुबुगाहट  शुरू हो चुकी है। बहुत जल्द ही देश भर में किसान अपनी हकों को लेकर सड़क पर होंगे।  ये बातें स्वराज अभियान के संयोजक और आप के पूर्व नेता योगेन्द्र यादव ने रायपुर में शनिवार को  संयुक्त किसान मोर्चा के साथ बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा में कहीं। योगेन्द्र यादव ने रमन सरकार पर किसानों के साथ धोखा करने का आरोप भी लगाया ।उन्होंने कहा कि देश में हर कहीं सरकार किसान विरोधी हो गई है।  लिहाजा वे देश भर में जय किसान आंदोलन के साथ जहां भी किसान संघर्ष कर रहें उनके बीच जा रहे हैं। रायपुर में संयुक्त किसान मोर्चा योगेन्द्र यादव का नागरिक अभिनंदन भी किया।
yogendra 2

रायपुर   में योगेन्द्र यादव ने दिया धरना 
          छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय प्रवास पर रायपुर पहुँचें स्वराज अभियान के संयोजक और आप के पूर्व नेता योगेन्द्र यादव डाटा एंट्री आपरेटर्स के आंदोलन में भी शामिल हुए। धरना स्थल पहुँचकर उन्होंने आपरेटर्स के समर्थन में धरना भी दिया। और आंदोलनकारियों को संबोधित भी किया।  नौकरी से निकाले गए आपरेटर्स 3 सितंबर से आंदोलनरत् हैं। सरकार ने अब तक आपरेटर्स के आंदोलन को लेकर किसी तरह की कोई भी पहल नहीं की। इस अड़ियल रवैय्ये की योगेन्द्र यादव ने निंदा करते हुए कहा कि सरकार को आंदोलनकारियों से बातचीत करनी चाहिए। सरकार का रवैय्या ठीक नहीं है।  उन्होने  सरकार से अपील की हैं कि सरकार इनकी मांगों को पूरा करने की दिशा में उचित कदम उठाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *