दोषियों पर होगी सख्त कार्यवाही-डॉ.रमन

kisaan_ramanरायपुर—मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जांजगीर-चाम्पा जिले के मुलमुला पुलिस हिरासत में मौत को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री ने घटनाक्रम की निष्पक्ष जांच का निर्देश दिया है।सीएम ने आज दोपहर डॉ. बी.आर. अम्बेडकर इंडस्ट्रियलिस्ट, ट्रेडर्स एंड एंटरप्रेन्योर्स  एसोसिएशन की कार्यशाला में शामिल पत्रकारों यह जानकारी दी है।

                    डॉ.रमन सिंह ने कार्यशाला के बाद मीडिया से कहा कि मुझे कल रात घटना की जानकारी मिली। तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को जांच करने का निर्देश दिया है। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रकरण की निष्पक्ष जांच होगी और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। लापरवाही के आरोप में जांजगीर पुलिस अधीक्षक ने मुलमुला थाना प्रभारी जितेन्द्र सिंह राजपूत को निलम्बित कर है। अजय यादव ने घटना के दूसरे दिन 18 सितम्बर को मुलमुला थाने के दो आरक्षक सुनील ध्रुव और दिलहरण मिरी को भी कर्तव्य के प्रति लापरवाही के आरोप में निलम्बित कर किया है।

                    डॉ.रमन सिंह ने बताया कि पुलिस अधीक्षक ने दो अलग-अलग आदेशों में तीनों निलम्बित पुलिस कर्मियों का मुख्यालय रक्षित केन्द्र जांजगीर किया है। मुख्यमंत्री ने बताया कि पुलिस अधीक्षक ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट को पत्र लिखकर जांच करने का आग्रह किया है।

                      मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट को पत्र में बताया गया है कि ग्राम नरियरा निवासी मृतक सतीश नारंगे पिता राजाराम सूर्यवंशी को खूंटीघाट निवासी, नरियारा पावर सब स्टेशन के संचालक देवेन्द्र साहू की शिकायत पर जांच के लिए मुलमुला थाना लाया गया था। पुलिस अभिरक्षा में उसे स्वास्थ्य केन्द्र पामगढ़ भेजा गया। चिकित्सा अधिकारी ने सतीश को मृत घोषित किया है।

                        स्वास्थ्य केन्द्र पामगढ़ की सूचना पर थाना पामगढ़ में मृत्यु संबंधी मर्ग पंजीबद्ध किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने लिखा है कि मृत्यु पुलिस की अभिरक्षा से संबंधित है। मृतक का शव जांजगीर के पोस्टमार्टम गृह में रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *