दो थानों के बीच उलझा हेमबाई का न्याय

Chhattisgarh.Policeबिलासपुर—गिधौरी महानदी में 10 मई को सारंगढ से लापता युवती हेमवाई पुल के नीचे राहगीरो को घायल अवस्था में मिली थी। ग्रामीणो ने उसे स्थानीय चिकित्सालय में भर्ती कराया। बाद में युवती को सिम्स रिफर कर दिया गया। उपचार के दौरान 18 मई को हेमबाई की मौत हो गयी। मामले में आज तक जांच शुरू नही हुई है। सारंगढ पुलिस सिम्स से पोस्टमार्टम रिपोर्ट और आखिरी बयान का इंतजार की बात कह रही है।

                          जांजगीर चांपा के शिवरीनरायण स्थित गिधौरी गांव में महानदी के नीचे एक युवती को घायल अवस्था में पुल के नीचे पाया। स्थानीय लोगों ने उसे उपचार के लिए स्थानीय चिकित्सालय  में भर्ती किया। बाद में युवती को सिम्स रैफर कर दिया गया। वाट्स अप से जानकारी मिलने पर युवती के परिजन सिम्स पहुंचें। युवती की पहचान हेमबाई के रूप में की। हेमबाई के पिता का निधन हो चुका है। युवती की मां शांति बाई और बड़ा पिता गिरघारी लाल देवांगन ने बताया कि हेमबाई को आंख से कम दिखाई देता था। दिमागी हालत भी ठीक नही थी। 9 मई की रात हेमबाई घर से लापता हो गई थी। लेकिन गिधौरी महानदी पुल के नीचे कैेसे पहुंची उसकी जानकारी नहीं है।जबकि घर से पुल की दूरी चालिस किलोमीटर है।

                                    पुलिस को आंशका है कि हेमबाई घर से बाहर पहुची और किसी ट्रक चालक ने उसे उठा लिया होगा। शिवरीनारायण गिधौरी ले गया होगा। दुष्कर्म के बाद उसे पुल से नीचे फेक दिया। या फिर जबरदस्ती के दौरान वह पुल के नीचे गिर कर घायल हो गई होगी। बहरहाल मामले में जांच जारी है।

                 सारगंढ थाना प्रभारी एसआई के.एम बल ने बताया कि हमारे यहां गुमइंसान दर्ज है। सिम्स से अब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट और अंतिम बयान नहीं मिला है। घटना स्थल जिला बलौदा बाजार है दोनो ही थानो में आपसी समझ से मामले को गंभीरता से लिया जाएगा। जल्द ही निष्कर्ष तक पुलिस पहुच जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *